Home mumbai दुल्हन की विदाई के बाद ‘रोया’ दूल्हा, सुहागरात मनाने की बजाए पहुंच गया जेल

दुल्हन की विदाई के बाद ‘रोया’ दूल्हा, सुहागरात मनाने की बजाए पहुंच गया जेल

1 second read
0
1,060

नई दिल्ली : शादी को लेकर दुल्हा और दुल्हन कई तरह के सपने संजोये रहते है, की वे शादी के बाद क्या करेंगे। हनिमून कहां मनाएंगे, एक-दूसरे को कैसे जानेंगे आदि। यहीं कुछ शायद उस दूल्हें ने भी सोचा था, लेकिन उसके उन सारे सपनों पर पानी फिर गया और उसे शादी के बाद दुल्हन के साथ सुहागरात मनाने के बजाये मुंबई पुलिस के साथ रात गुजारनी पड़ी।

आपको बता दें कि यह खबर उत्तर प्रदेश के मुजफ्फनगर का है। जहां ऑनलाइन ठगी मामले में मुंबई पुलिस ने दुल्हन के साथ घर लौटते वक्त गिरफ्तार कर लिया। ऑनलाइन ठगी का आरोपी दूल्हा मूल रूप से यूपी के औरेया जिले का रहने वाला हैं। वह इन दिनों नोएडा में रह रहा है। आपको बता दें कि युवक मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना से शादी करके दुलहन की विदाई करा रहा था। रात में उसकी सुहागरात थी लेकिन उसे दुलहन की जगह, मुंबई पुलिस के साथ रात गुजारनी पड़ी।

जानकारी के मुताबिक मुंबई पुलिस जिस दूल्हे को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई, उसका नाम आलोक शुक्ला (28) है। वह अपने परिवार के साथ काफी दिन से नोएडा में रहता है। उसने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का ऑफिस खोल रखा है। आलोक शुक्ला की शादी मुजफ्फरनगर के गांव सठेड़ी में तय हुई थी। वह बारात लेकर सठेड़ी आया था। रात को शादी की सारी रस्में हुईं।

इसके बाद दूसरे दिन विदाई होने लगी। दुलहन अपने परिवार के साथ लिपटकर रो रही थी। जैसे ही उसे कार में बैठाकर दूल्हा आगे बढ़ा, सठेड़ी गांव के बाहर ही पुलिस ने बरात और दूल्हा-दुल्हन की कार को रोककर आलोक शुक्ला को गिरफ्तार कर साथ बैठा लिया।

मुंबई पुलिस की साइबर सेल की महिला इंस्पेक्टर शुभांगी सिंह ने दुल्हन को बताया कि आलोक शुक्ला के खिलाफ मुंबई में कई लोगों ने ऑनलाइन धोखाधड़ी कर रुपये ऐंठने की एफआईआर दर्ज कराई थी। उसकी काफी दिन से तलाश की जा रही थी। अब जांच में आलोक की शादी की जानकारी मुजफ्फरनगर में होने का पता चला, जिसके बाद मुंबई पुलिस मुजफ्फरनगर पहुंची। केस की जानकारी दी और बुढ़ाना पुलिस को साथ लेकर दूल्हे को गिरफ्तार कर लिया। दूल्हे को पुलिस के ले जाने पर बराती दुल्हन को लेकर नोएडा चले गए।

पुलिस ने बताया कि आलोक विदेश में रहता था। वहां से लौटने के बाद उसने नोएडा में ऑनलाइन पासपोर्ट प्रोवाइडिंग सर्विस शुरू की। इसी दौरान मुंबई में उसके खिलाफ फ्रॉड का केस दर्ज हुआ। कुछ दिन पहले मुंबई पुलिस की एक टीम नोएडा आई लेकिन आरोपी नहीं मिला। पुलिस ने आलोक के फोन नंबर्स समेत अन्य नजदीकियों के नंबर लिए और वापस चले गए। आपको बता दें कि इसके बाद से मुंबई पुलिस लगातार आलोक पर नजर बनाये हुए थे, जिसमें उन्हें कामयाबी भी मिली।

Load More In mumbai
Comments are closed.