Home विदेश सेम सेक्स में संबंध बनाने वालों के लिए नर्क है ये 5 देश, इस देश में तो पत्थर से कूच कर मार देती है सरकार

सेम सेक्स में संबंध बनाने वालों के लिए नर्क है ये 5 देश, इस देश में तो पत्थर से कूच कर मार देती है सरकार

7 second read
0
96

रिपोर्ट: गीतांजली लोहनी

नई दिल्ली: अब तो भारत सहित दुनिया के कई देशों में समलैंगिक संबंधों को मंजूरी दे दी गयी है। लेकिन कभी एक वक्त था जब समलैंगिक संबंधों को अपराध माना जाता था और कहीं कहीं तो इस अपराध के लिए सजा-ए-मौत सुना दी जाती थी। लेकिन अभी भी कुछ ऐसे देश है जहां LGBT ग्रुप्स की जिंदगी एक अभिशाप मानी जाती है। तो चलिए आज हम आपको उन्हीं देशों के बारे में बताएंगे जहां समलैंगिक होना एक बड़ा अपराध है जिसका सजा मौत है-

ईरान

इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ़ ईरान में लेस्बियन, गे, बाइसेक्सयुअल और ट्रांसजेंडर्स को कानूनी भेदभाव झेलना पड़ता है। यहां लोग लीगल तरीके से जेंडर चेंज तो करवा सकते हैं लेकिन अगर उन्हें सेम सेक्स संबंधों में पकड़ लेते है तो उन्हें मौत की सजा तक दे दी जाती है।  ईरान में समलैंगिक संबंधों पर ग्रहण पीनल कोड 1930 से ही है। यहां सेम सेक्स मैरिज एक बड़ा अपराध है। हालांकि, लेस्बियन को गे से कम सजा दी जाती है।  यानी अगर किसी महिला का दूसरी महिला से संबंध है तो उसे गे यानी दो पुरुषों के बीच के संबंध से कम सजा दी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि 1979 से लेकर अभी तक हजारों लोगों को समलैंगिक संबंधों के आरोप में फांसी की सजा दी जा चुकी है।

सऊदी अरब

सऊदी अरब भी एक ऐसा देश है जहां LGBT कम्युनिटी सेफ नहीं है । यहां समलैंगिक संबंध गैरकानूनी है, चाहे वो महिला हो या फिर पुरुष। यहां सरकार समलैंगिकता को मंजूरी नहीं देती है। अगर कोई समलैंगिक संबंधों के आरोप में पकड़ा जाता है तो उसे कई तरह की सजा दी जाती है।  जिसमें उम्रकैद, फाइन और फांसी तक शामिल है।

सूडान

इस देश में भी समलैंगिक संबंधों को लेकर सालों से LGBT कम्यूनिटी के विरोध में फैसले लिए जाते रहे हैं। पहले यहां सेम सेक्स कपल्स को फांसी की सजा दी जाती थी, लेकिन ऐसा कोई मामला अभी तक रिकार्ड्स में नहीं आया है। साल 2020 में फांसी की सजा को हटाकर अब समलैंगिक संबंध बनाने वालों को उम्रकैद की सजा कर दी गई है। बता दें कि सूडान में अप्राकृतिक सेक्स पर बैन है। चाहे वो सेम सेक्स कपल हो या अपोजिट। यहां इसपर बैन है और मामला दर्ज होने पर पुरुष को उम्र कैद की सजा सुना दी जाती है।

यमन

इस देश में LGBT समुदाय का होना किसा अभिशाप से कम नहीं है। यमन में अगर कोई समलैंगिक संबंधों के आरोप में पकड़ा जाता है तो उसे सीधे सजा-ए-मौत सुना दी जाती है। हालांकि, अभी तक किसी को भी मौत की सजा मिली नहीं है। और ऐसा एक भी मामला यहां रिकॉर्ड नहीं है।

नाइजीरिया

इस देश में भी LGBT कम्युनिटी के लिए कोई लॉ नहीं बनाया गया है। अगर कोई समलैंगिक संबंधों में पकड़ा जाए तो उसके लिए मौत का प्रावधान है। मौत भी ऐसी वैसी नहीं। यहां पत्थर से कूच कर इन लोगों को मौत दी जाती है।

 

Load More In विदेश
Comments are closed.