1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का 66 वर्ष की उम्र में निधन, 1983 विश्व विजेता टीम का थे अहम हिस्सा

पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का 66 वर्ष की उम्र में निधन, 1983 विश्व विजेता टीम का थे अहम हिस्सा

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : 1983 के विश्वकप में जीत दर्ज कर भारत ने एक इतिहास रचा था, जिसका प्रमुख हिस्सा रहे पूर्व भारतीय क्रिकेटर यशपाल शर्मा आज का निधन हो गया। इसे लेकर पूरे क्रिकेट जगत में शोक की लहर है। आपको बता दें कि यशपाल शर्मा का निधन मंगलवार सुबह हार्ट अटैक आने की वजह से हुई। वे 66 वर्ष के थे।

यशपाल शर्मा ने अपना पहला टेस्ट डेब्यू इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में 1979 में किया था, जबकि 1983 में अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था। यशपाल शर्मा ने 1978 में वनडे डेब्यू किया था और 1985 में अपना आखिरी वनडे मैच खेला था।

भावुक हुए साथी खिलाड़ी…

विश्व विजेता टीम में यशपाल शर्मा के साथ खेलने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदनलाल ने अपने साथी खिलाड़ी के निधन पर कहा कि वह विश्वास नहीं कर पा रहे हैं कि ऐसा हुआ है। हमने पंजाब से खेल की शुरुआत की थी, फिर वर्ल्डकप में हम एक साथ खेले।

मदनलाल ने बताया कि अभी कपिल देव और टीम के अन्य सदस्यों से भी बात हुई है, हर कोई इस खबर से हैरान है। यशपाल शर्मा के अपने पीछे अपनी पत्नी, तीन बच्चों को छोड़कर गए हैं। यशपाल शर्मा के बच्चे विदेश में पढ़ाई करते हैं। यशपाल शर्मा भारतीय क्रिकेट टीम के नेशनल सिलेक्टर भी रह चुके हैं।

पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आज़ाद ने कहा कि आज हमारा परिवार टूट गया है, यशपाल शर्मा ने ही 1983 विश्व कप जीत का एजेंडा तय किया था। अभी हमने 25 जून को ही मुलाकात की थी, तब वह काफी खुश थे। हमारी टीम में वो सबसे फिट खिलाड़ियों में से एक थे। कीर्ति आज़ाद के मुताबिक, आज सुबह वह जब मॉर्निंग वॉक से वापस लौटे, तब उन्हें सीने में दर्द हुआ था. उसी के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया।

विश्व विजेता टीम का अहम हिस्सा…

यशपाल शर्मा ने भारत के लिए कुल 37 टेस्ट मैच खेले थे, जिसमें उन्होंने करीब 34 की औसत से 1606 रन बनाए थे। वहीं, कुल 42 वनडे मैच में यशपाल शर्मा ने 883 रन बनाए थे।

यशपाल शर्मा साल 1983 में विश्व कप जीतने वाली टीम का अहम हिस्सा थे. वर्ल्डकप में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ खेले गए पहले मैच में यशपाल शर्मा ने 89 रनों की शानदार पारी खेली थी, जिसमें टीम इंडिया की जीत हासिल हुई थी। इसके अलावा सेमीफाइनल में भी यशपाल शर्मा ने 61 रनों की पारी खेली थी, तब भारत ने इंग्लैंड को मात दी थी।

वर्ल्ड कप के बाद ढलान पर था करियर…

साल 1983 के वर्ल्डकप के बाद यशपाल शर्मा का करियर लगातार ढलान की ओर जाने लगा। खराब परफॉर्मेंस के कारण यशपाल शर्मा को पहले टेस्ट टीम से बाहर निकाला गया, उसके बाद वह वनडे में भी वापसी नहीं कर पाए। यशपाल शर्मा मूल रूप से पंजाब के रहने वाले थे, जिनका जन्म 11 अगस्त 1954 को हुआ था। पंजाब के स्कूल की ओर से खेलते हुए यशपाल शर्मा ने 260  रनों का पहाड़ स्कोर बनाया था, जिसके बाद से ही वो लगातार सुर्खियों में रहे थे.।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads