1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. बाइक पर शव ले जाने को मजबूर हुये परिजन , मूक दर्शक बने रहे मौजूद पुलिसकर्मी

बाइक पर शव ले जाने को मजबूर हुये परिजन , मूक दर्शक बने रहे मौजूद पुलिसकर्मी

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट – माया सिंह

सासाराम :  भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर खतरनाक हो गई है । देश में कोरोना संक्रमण की बेकाबू रफ्तार के बीच राज्यों की स्वास्थ्य सेवा की पोल खुलने लगी है । अस्पतालों में बेड्स और ऑक्सीजन की कमी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है । अब बिहार के सासाराम से बदइंतजामी का एक ऐसा नजारा सामने आया है , जो नीतिश सरकार के विकास के दावों को खोखलो साबित करने के लिये काफी है । इस तस्वीर को देखकर आपकी रूह कांप उठेगी ।

दरअसल , सासाराम के सदर अस्पताल में ऐसी स्थिति बनी हुई है कि एक बुजुर्ग की मौत होने पर उसे एंबुलेंस तक मुहैया नहीं कराया गया । मजबूरी वश मृतक के परिजनों को उसके शव को बाइक पर लादकर ले जाना पड़ा , जबकि सामने खड़े पुलिस गूंगा बनकर देखते रहे ।

जानकारी के मुताबिक 70 वर्षीय बुजुर्ग सीताराम की तबीयत अचानक बिगड़ गई , जिन्हें जल्दबाजी में अस्पताल ले जाया गया लेकिन इमरजेंसी वार्ड के गेट पर पहुंचते ही बुजुर्ग ने दम तोड़ दिया । इसके बाद परिजन एंबुलेंस के लिये  चिख-चिखकर गुहार लगाते रहे लेकिन पुलिस सहित अस्पताल वाले भी मूक दर्शक बने रहे , किसी ने उनकी मदद नहीं की । इसकेत बाद मजबूर परिजनों को बुजुर्ग के शव को बाइक पर ले जाना पड़ा ।

हालांकि , बुजुर्ग की मौत किस बीमारी के वजह से हुई है इसका पता नहीं चल पाया क्योंकि इलाज से पहले ही उसने दम तोड़ दिया । वहीं इस मामले पर अधिकारियों से पुछने पर उन्होंने यह कहकर अपना  पिछा छुड़ा लिया कि इस  घटना के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है ।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...