Home देश एक विवाह ऐसा भी, महिला कॉन्स्टेबल को नहीं मिली छुट्टी तो थाने में ही हुई हल्दी की रस्म

एक विवाह ऐसा भी, महिला कॉन्स्टेबल को नहीं मिली छुट्टी तो थाने में ही हुई हल्दी की रस्म

28 second read
1
418

रिपोर्ट- पल्लवी त्रिपाठी

राजस्थान : देश भर में कोरोना महामारी अपने चरम पर है। जिसके चलते कई जगहों पर पाबंदियां लगाई गई हैं। ऐसे में पुलिस कर्मी अपना घर-परिवार छोड़कर देश की सेवा में जुटे है। ऐसे में राजस्थान से एक मामला सामने आया है। जहाँ छुट्टी न मिलने की वजह से महिला पुलिस कर्मी की हल्दी की रस्म थाने में ही आयोजित की गई। महिला का यूं थाने में हल्दी की रस्म करना सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। सोशल मीडिया यूजर्स पोस्ट को खूब पसंद कर रहे हैं। 

राजस्थान की एक महिला पुलिस कॉन्स्टेबल अपनी हल्दी रस्म की वजह से सोशल मीडिया पर चर्चा में आ गई है। दरअसल, डूंगरपुर कोतवाली में तैनात आशा नाम की महिला पुलिस कॉन्स्टेबल की हल्दी रस्म का समारोह थाना परिसर में इसलिए हुआ, क्योंकि राज्य में जगह-जगह लॉकडाउन की वजह से उन्हें हल्दी समारोह के लिए छुट्टी नहीं मिल रही थी।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, महिला पुलिस कॉन्स्टेबल आशा की शादी होने वाली है। मगर कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण उन्हें हल्दी की रस्म के लिए छुट्टी नहीं मिल रही थी। यही वजह है कि हल्दी की रस्म थाने में ही निभाई गई। जहाँ अन्य महिला कॉन्स्टेबलों ने दुल्हन आशा को हल्दी लगाई और मंगल गीत गाकर रस्म को पूरा किया।

दुल्हन आशा का कहना है कि उनकी शादी पिछले साल मई में ही होने वाली थी, मगर देशव्यापी लॉकडाउन और कोरोना की वजह से स्थगित कर दी गई। इस बार उनकी शादी 30 अप्रैल की तारीख तय हुई है। हालांकि, लॉकडाउन की वजह से वह अपनी ड्यूटी पर ही हैं और यही वजह है कि उन्हें अन्य पुलिस कर्मियों की सहायता से अपनी हल्दी की रस्म अब थाने में ही पूरा करना पड़ी।

थाने की महिला स्टाफ ने परिवार की भूमिका निभाई और शादी का मंगल गीत गाकर आशा को हल्दी लगाई। तस्वीरों में आप देख सकते है कि कैसे सभी महिला पुलिसकर्मी मिलकर आशा को हल्दी लगा रही हैं। 

Load More In देश
Comments are closed.