1. हिन्दी समाचार
  2. army day
  3. इस दुर्लभ बीमारी की वजह से पत्‍थर में बदल रही पांच महीने की बच्‍ची, संभावित लक्षणों को लेकर दी चेतावनी

इस दुर्लभ बीमारी की वजह से पत्‍थर में बदल रही पांच महीने की बच्‍ची, संभावित लक्षणों को लेकर दी चेतावनी

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : अत्यंत दुर्लभ बिमारी की वजह से एक पांच महीने की बच्ची पत्थर में बदल रही है। इसे लेकर बच्‍ची के परिवार वालों ने अब दुनियाभर के अभिभावकों को संभावित लक्षणों को लेकर चेतावनी दी है। बता दें कि बच्‍ची का नाम लेक्‍सी रोबिन्‍स है। यह दुर्लभ बीमारी 20 लाख में से किसी एक को होती है।

लेक्‍सी का जन्‍म गत 31 जनवरी को हुआ था। उनके पैरंट्स अलेक्‍स और दवे ब्रिटेन के हर्टफोर्डशायर इलाके के रहने वाले हैं। उन्‍होंने पाया कि बच्‍ची के हाथ के अंगूठों में कोई हरकत नहीं है। वहीं उसके पैर के अंगूठे काफी बड़े जो सामान्‍य बात नहीं है। बच्‍ची की इस जानलेवा बीमारी का पता लगाने में डॉक्‍टरों को काफी समय लग गया।

मरीजों का जीवन करीब 40 साल

इस घातक बीमारी में मांसपेशियां और जोड़ने वाले ऊतक हड्डी में बदल जाते हैं। इस बीमारी में हड्ड‍ियों का जन्‍म कंकाल के बाहर होने लगता है। इसे अक्‍सर शरीर का पत्‍थर में बदलना कहा जाता है। इस बीमारी से पीड़ित लोग 20 साल की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते बिस्‍तर पर पड़ जाते हैं और उनका जीवन करीब 40 साल का होता है। लेक्‍सी का अप्रैल महीने में एक्‍सरे कराया गया था। इसमें पता चला कि उसके पैर में गोखरू है और उसके हाथ के अंगूठे दोबार जुडे़ हैं।

लेक्‍सी की मां एलेक्‍स ने कहा कि, ‘एक्‍सरे के बाद शुरू में हमें बताया गया कि उसे एक सिंड्रोम है और वह चल नहीं पाएगी। हमें इस पर भरोसा नहीं हुआ क्‍योंकि वह उस समय शारीरिक रूप से बहुत मजबूत थी। वह अपना पैर हिला रही थी। हमें पूरी तरह से भरोसा नहीं था तो हमने मई के मध्‍य में रिसर्च किया। हमने पाया कि उसे यह बीमारी है। हम उसे विशेषज्ञ के पास ले गए। हमने उसका अमेरिका में जेनेटिक टेस्‍ट कराया। इसमें उसके बीमारी का पता चला।’ इस बच्‍ची को अब न तो कोई इंजेक्‍शन लग सकता है और न ही टीका। वह बच्‍चे को भी जन्‍म नहीं दे सकेगी। वैज्ञानिक अब बच्‍ची की जान बचाने के लिए जद्दोजहज कर रहे हैं।

आपको बता दें कि इस जीन से संबंधित घातक बीमारी को Fibrodysplasia Ossificans Progressiva कहा जाता है। इस बीमारी में इंसान का शरीर पत्‍थर में बदलने लगता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads