1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. परिवहन चेक पोस्ट को खत्म करने के डॉ. मोहन यादव के ऐतिहासिक फैसले की देश भर में हुई सराहना

परिवहन चेक पोस्ट को खत्म करने के डॉ. मोहन यादव के ऐतिहासिक फैसले की देश भर में हुई सराहना

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव द्वारा राज्य भर में परिवहन परिवहन चेक पोस्ट को खत्म करने के हालिया फैसले को व्यापक प्रशंसा मिली है, खासकर पुडुचेरी में आयोजित अखिल भारतीय मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस में। इस कदम को एक ऐतिहासिक मील का पत्थर माना जा रहा है जो परिवहन क्षेत्र पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालेगा।

By Rekha 
Updated Date

मध्य प्रदेश: मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव द्वारा राज्य भर में परिवहन चेक पोस्ट को खत्म करने के हालिया फैसले को व्यापक प्रशंसा मिली है, खासकर पुडुचेरी में आयोजित अखिल भारतीय मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस में। इस कदम को एक ऐतिहासिक मील का पत्थर माना जा रहा है जो परिवहन क्षेत्र पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालेगा।

ऐतिहासिक निर्णय की राष्ट्रव्यापी प्रशंसा
मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने 1 जुलाई, 2024 को मध्य प्रदेश में सभी परिवहन चेकपोस्ट चौकियों को तत्काल समाप्त करने की घोषणा की। अवैध गतिविधियों पर अंकुश लगाने और परिवहन प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करने के उद्देश्य से लिए गए इस निर्णय को ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस सहित विभिन्न हलकों से प्रशंसा मिली है।

लंबे समय से चले आ रहे मुद्दों का समाधान
काफी समय से, इन चेकपोस्टों पर अवैध वसूली की कई शिकायतें आ रही थीं, जिससे देश भर के ट्रांसपोर्टरों को काफी परेशानी हो रही थी। रिपोर्टों से संकेत मिलता है कि इन पदों पर अधिकारियों ने निजी व्यक्तियों को नियुक्त किया था, जिन्हें कटर कहा जाता था, जो अवैध वसूली और यहां तक ​​कि ट्रक ड्राइवरों के शारीरिक शोषण में शामिल थे। इन गतिविधियों से मध्य प्रदेश की छवि खराब हुई।

गहन जांच और तत्काल कार्रवाई
शिकायत मिलने पर मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने विस्तृत जांच करायी. एक बार मुद्दों की पुष्टि हो जाने के बाद, उन्होंने परिवहन चौकियों को तुरंत बंद करने और वैकल्पिक व्यवस्था लागू करने का निर्णायक कदम उठाया। इस निर्णय का उद्देश्य भ्रष्टाचार को खत्म करना और राज्य भर में परिवहन की आसानी में सुधार करना है।

ट्रांसपोर्टर्स और उद्योग विशेषज्ञों का मानना ​​है कि डॉ. मोहन यादव का फैसला मध्य प्रदेश के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। चेकपोस्टों को ख़त्म करने से दक्षता बढ़ेगी, देरी कम होगी और परिवहन और वाणिज्य के लिए अधिक अनुकूल वातावरण तैयार होने की उम्मीद है।

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के साहसिक कदम को न केवल मध्य प्रदेश में बल्कि पूरे देश में मान्यता मिल रही है, जिससे परिवहन क्षेत्र में शासन और प्रशासनिक दक्षता के नए मानक स्थापित हो रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...