Home फ़तेहपुर CM योगी के तमाम प्रयास के बावजूद, भ्रष्टाचार में अधिकारियों के सने मिल रहे हाथ

CM योगी के तमाम प्रयास के बावजूद, भ्रष्टाचार में अधिकारियों के सने मिल रहे हाथ

0 second read
0
36

रिपोर्ट:  दिनेश गर्ग

फतेहपुर: सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश से भ्रष्टाचार पर लागम लगाने की जितनी भी कोशिश कर रहे हैं, सब बेकार ही साबित होती नजर आ रही है। आपको बता दें कि फतेहपुर सिकरी से भ्रष्टाचार का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे जानकर आप भी दंग रह जायेगे। दरअसल सरकार जितनी कड़ाई भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने की कर रही है। सूबे में अधिकारियों के हाथ उतने ही सने मिल रहें हैं।

आये दिन भ्रष्ट अधिकारियों के ऑडियो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। ऐसा ही एक ऑडियो फतेहपुर सीकरी खंड विकास कार्यालय के एडीओ पंचायत कृषि का हो रहा है। जिसमें एडीओ पंचायत को मुख्यमंत्री एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्र एवं अपात्र लोगों लोगों की जांच सौंपी गई। जिसमें वो कृषि मध्यस्थ के माध्यम से पैसे लेने की बात कह रहे हैं।

आपको बता दें ग्राम पंचायत देवनारी में स्थानीय निवासियों द्वारा आवासों में हुई हेराफेरी व अपात्र लोगों को सरकारी योजनाओं का गलत तरीके से लाभ देने के संबंध में शिकायत की गई थी। जिसमें जांच के लिए एडीओ पंचायत कृषि को नियुक्त किया गया। जांच अधिकारी ने सही जॉच करने के बजाय रिश्वत लेने के लिए मध्यस्थ को नियुक्त कर दिया।

बाद में ग्रामीणों ने इसकी शिकायत खंड विकास अधिकारी मंगल सिंह यादव से बात की तो खंड विकास अधिकारी ने भी इस बात को स्वीकार करते हुए कहा कि “प्रथम दृष्टया जांच अधिकारी के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अपात्र लोगों को पात्र करने के लिए पैसे लेनदेन की बात की जा रही है”।

जिसके बाद खंड विकास अधिकारी मंगल यादव ने पूरे मामले की जांच के लिए 3 सदस्य कमेटी का गठन किया गया है। इस कमेटी को 3 से 4 दिन में पूरे मामले की रिपोर्ट दी जाएगी। जिसके आधार पर दोषी खिलाफ सख्त से सख्त विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Load More In फ़तेहपुर
Comments are closed.