1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कांग्रेस के वो विवादित नेता जिनके कारण कई बार शर्मसार हो चूका है कांग्रेस,5वां नाम जानकर उड़ जाएंगे होश

कांग्रेस के वो विवादित नेता जिनके कारण कई बार शर्मसार हो चूका है कांग्रेस,5वां नाम जानकर उड़ जाएंगे होश

उतर प्रदेश में सत्ता का सूखा खत्म करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व ने कमर कस ली हैं, अबकी बार कांग्रेस उन सभी राजनीतिक नुमाइंदो को चुनावी मैदान में उतार सकती है, जिनका सियासी करियर काफी विवादों में रहा हैं।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

लखनऊ – उतर प्रदेश  में सत्ता का सूखा खत्म करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व ने कमर कस ली हैं, अबकी बार कांग्रेस उन सभी राजनीतिक नुमाइंदो को चुनावी मैदान में उतार  सकती है, जिनका सियासी करियर काफी विवादों में रहा हैं। कांग्रेस पार्टी अपने उम्मीदवारों का ऐलान समयपूर्व ही करना चाहती है, ताकि उम्मीदवार जनता के बीच अपनी पकड़ व पैठ जमा सकें। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं की प्रियंका गाँधी नवरात्रों में अपने उम्मीदवारो की सूची जारी करेंगी।

विवादों से पुराना नाता रखने वाले कांग्रेस के  सियासी नेता ,जो उतरेंगे विधानसभा चुनाव में

इमरान मसूद –  देश में 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान सुर्खियों में आये थे, कांग्रेस नेता इमरान ने  कानून को धता बता हुए चुनावी जनसभा में बयान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि,अगर नरेंद्र मोदी  उत्तर प्रदेश में किसी भी मुसलमान को कुछ कहते है तो उनकी की बोटी बोटी कर दी जायेंगी। उनके इस बयान के बाद सियासी तापमान उबल उठा था। नतीजा यह हुआ की इमरान मसूद लोकसभा चुनाव में हार  गए।

काफी बड़ा रिश्ता है सियासत से मसूद परिवार का

इमरान मसूद का परिवार सहारनपुर व  पश्चिमी उत्तर प्रदेश की राजनीती में काफी ऊंचा कद रखते है। उनके दादा परदादा भी कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा व विधानसभा पहुँचते रहे है। इसी लिहाज से फिर एक बार इमरान मसूद कांग्रेस के टिकट से विधानसभा चुनाव में उतर सकते हैं।

सलमान खुर्शीद – पूर्व में विदेश मंत्री का पदभार संभाल चुके है, व इसी के साथ कांग्रेस की सलाहकार समिति में सचिव रहे है। इनका नाम दिव्यांगजनों को दी जाने वाली रिक्शा घोटाले में इनका नाम जोरशोर से उछला था। जब इनसे घोटाले को लेकर सवाल पूछा गया तो खुर्शीद ने अपना आपा खो दिया था, और आजतक के पत्रकार के साथ झड़प हो गयी थी। इस विवाद के बाद उनका कद राजनीती में धराशायी हो गया।

आचार्य प्रमोद कृष्णम – कांग्रेस के पास आचार्य प्रमोद कृष्णम भगवा चोले का अकेला सिपहसालार है। साथ ही वह क्लिक पीठाधीश्वर मंदिर के महंत है, जो अपनी बात बेबाकी से रखते है । हर मुद्दे पर कांग्रेस का  बचाव करते हैं ,उनकी लोकप्रियता हिन्दूओ के साथ -साथ  मुसलमानों में भी है। कांग्रेस के टिकट पर आचार्य प्रमोद कृष्णम लखनऊ लोकसभा सीट से चुनाव भी लड़ चुके, लेकिन यहाँ रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के सामने हार मुँह का देखना पड़ा था।

सतीश सिंह –अमेठी कांग्रेस का सबसे मजबूत गढ़ रहा है, जिसने  गाँधी परिवार के कई को  सदस्य लोकसभा भेजा है। इसी के साथ सतीश सिंह का परिवार भी अमेठी की राजनीती में रसूखदार रहा। वहीं से अबकी बार कांग्रेस पूर्व केंद्रीय मंत्री सतीश सिंह के किसी भी व्यक्ति को विधानसभा चुनाव में उतार  सकती है,ताकि कांग्रेस अमेठी  का किला दोबारा जीत सके, पिछले लोकसभा  चुनाव में खुद राहुल गाँधी को चारों खाने चित होना पड़ा था।

इमरान प्रतापगढ़ी –मुशायरों में अपनी शायरी से वाहवाही लूटनी वाले इमरान प्रतापगढ़ी भी कांग्रेस के स्टार प्रचारक होंगे,लेकिन इससे इतर देखा जाये तो उन्हें शीर्ष नेतृत्व चुनावी बेला में रणभेरी बजवा सकता हैं। शायद उन्हें विधानसभा चुनाव में उतार सकता है ,जहां से वह जीत हासिल कर सकते हैं। कांग्रेस इस बार मुस्लिम मतों को समेटना चाहती है ताकि सत्ता के शिखर तक पंहुचा जा सकें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...