Home Madhya Pradesh पति ने सो रही पत्नी का कुल्हाड़ी से एक हाथ और दूसरे की उंगलियां काट डालीं, CM शिवराज के भी उड़े होश…

पति ने सो रही पत्नी का कुल्हाड़ी से एक हाथ और दूसरे की उंगलियां काट डालीं, CM शिवराज के भी उड़े होश…

2 second read
0
167

 रिपोर्ट – माया सिंह

मध्य प्रदेश :  मध्य प्रदेश में महिलाओं के प्रति अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है । एक महिने के अंदर कई ऐसी घटनाएं घटी है , जिससे पूरा प्रदेश शर्मसार है। अब एक और पति की दरिंदगी का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है । इस ख़बर  ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को भी झकझोर कर रख दिया है । दरअसल, एमपी में बैतुल के चिचोली गांव में एक पति ने अपनी पत्नी के हाथ का पंजा और दूसरे हाथ की उंगलियां काट दी है । इस घिनौनी हरक़त का कारण घरेलु झगड़ा बताया जा रहा है ।

यह भी पढ़ें: रेलवे के डिप्टी चीफ इंजीनियर के नौकर का बेरहमी से कत्ल, दोनों हाथों को बांधकर रेता गया गला

चिचोली गांव के टीआई अजय सोनी ने पुलिस को बताया कि आरोपी राजू बशंकर मजदूरी का काम करता है और पिछले कई दिनों से उसका अपनी पत्नी से अनबन चल रहा था । विवाद इतना बढ़ गया था कि दोनों एक- दूसरे से सीधे मूंह बात त नहीं कर रहे थे ।

आगे बताया कि गुरूवार रात को भी दोनों के बीच विवाद हुआ  था । जिसके बाद दिन शुक्रवार को सुबह करीब साढ़े 5 बजे पति ने सोती हुई पत्नी पर हमला बोल दिया और पलभर में होथों की उंगलियों काटकर अलग कर दिया ।

यह भी पढ़ें: मौत के डर से भारत के इन गांवों में नहीं मनायी जाती है होली, कई सालों से फीके पड़े है ये गांव…

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस तुरंत पहुंत गई और आरोपी को मौके पर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया । वहीं घायल महिला को उपचाल के अस्पताल पहुंचाया गया जिसके बाद उसे भोपाल रेफर कर दिया गया है । आपको बताते चलें कि इससे पहले हाल ही में 3 ऐसे मामले सामने आए है जिसमें पति ने पत्नि के हाथ-पैर काटे हैं ।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मुझेक दुख हो रहा कि महिने के अंदर 3 बहनों ने अपने हाथ-पैर गवाएं है  । घरेलु हिंसा बहुत गंभीर मामला है , अगर दूसरा कोई हमला करे तो अपराध है , लेकिन जब एक पति  ऐसा  करे तो यह विश्वास की हत्या है । आगे उन्होनें बताया कि मैनें डीजीपी को निर्देश दिया है कि चिन्हित अपराध मानकर इसपर सख्ती से का कार्रवाई करें ताकि आगे से कोई ऐसा सोचने की भी हिम्मत ना करे ।

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.