Home Breaking News बिहार चुनाव में मुफ्त कोरोना के टीके का वादा कर सवालों के घेरे में आई बीजेपी : पढ़ें

बिहार चुनाव में मुफ्त कोरोना के टीके का वादा कर सवालों के घेरे में आई बीजेपी : पढ़ें

7 second read
0
10

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 28 अक्‍टूबर को मत डाले जाएंगे. ऐसे में चुनाव प्रचार के साथ ही घोषणा पत्र जारी करने का दौर भी जारी है। इस कड़ी में आज भाजपा की वरिष्‍ठ नेता और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बिहार के लिए पार्टी का घोषणा पत्र जारी किया है।

इस दौरान बीजेपी ने 11 बड़े संकल्प किए हैं और सत्ता में आने पर कई वादों को पूरा करने का दावा किया है। बीजेपी द्वारा जारी इस घोषणापत्र के साथ ही एक वीडियो भी रिलीज किया गया है इस घोषणापत्र में 5 साल में 5 लाख रोजगार देने की घोषणा की गई है साथ ही किसानों की आय को दोगुना करने की भी बात लिखी हुई है।

निर्मला सीतारमण बोलीं कि जबतक कोरोना वैक्सीन नहीं आती है, तब तक मास्क ही वैक्सीन है. लेकिन जैसे ही वैक्सीन आएगी तो भारत में उसका प्रोडक्शन बड़े स्तर पर किया जाएगा। अपने बयान में उन्होंने यह भी कहा की बिहार की जनता को यह दवाई फ्री में दी जाएगी।

लेकिन इस वादे के बाद अब बीजेपी सवालों के घेरे में आ गई है। दरअसल आरजेडी समेत तमाम विपक्ष इस घोषणा की आलोचना करते हुए कहा रहा है की बीजेपी इससे बच सकती थी। आरजेडी के ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर लिखा गया है कि कोरोना की वैक्सीन देश की है, भाजपा की नहीं! वैक्सीन का राजनीतिक इस्तेमाल दिखाता है कि इनके पास बीमारी और मौत का भय बेचने के अलावा कोई विकल्प नहीं है! बिहारी स्वाभिमानी हैं, चंद पैसों में अपने बच्चों का भविष्य नहीं बेचते।

इसी के साथ कांग्रेस से शिव सेना में शामिल हुई नेत्री प्रियंका चतुर्वेदी ने भी ट्वीट कर बीजेपी की इस घोषणा को गलत करार दिया है। उन्होंने ट्वीट किया, अब तक वैक्सीन आई नहीं है, पर चुनावी जुमलों का हिस्सा जरूर बन गई है। क्या केंद्र सरकार की जिम्मेदारी सारे राज्यों के लोगों के लिए एक समान नहीं होनी चाहिए ?

आपको बता दे कि देश में फिलहाल कोरोना के केस 55 से 60 हजार रोज के बीच बने हुए है वहीं एक्टिव केस की संख्या सात लाख के करीब रह गई है। इस समय भारत की दो वैक्सीन थर्ड फेज के ट्रायल में है जिनके परिणाम नवंबर के अंत में आ सकते है।

Load More In Breaking News
Comments are closed.