Home आगरा 10 घंटे लगातार लोगों की सेवा करती है बबीता चौहान, अब पंचायत चुनाव के लिए भरा पर्चा

10 घंटे लगातार लोगों की सेवा करती है बबीता चौहान, अब पंचायत चुनाव के लिए भरा पर्चा

43 second read
0
45

आगरा: भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आगरा (AGRA) जिले में जिला पंचायत चुनाव के लिए 51 प्रत्याशियों की सूची घोषित कर दी है। प्रत्याशियों की सूची में भाजपा के वर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष प्रबल प्रताप उर्फ राकेश बघेल (Rakesh Baghel) का नाम नहीं है। भाजपा ने पार्टी के पूर्व पदाधिकारियों के परिवार के लोगो को भी प्रत्याशी बनाया है।

पूर्व जिलाध्यक्ष श्याम भदौरिया (Shyam bhadauria) की पत्नी पूजा भदौरिया (Pooja Bhadauria), डॉ. राजेंद्र सिंह (Rajendra singh) की पुत्रवधू मंजू भदौरिया (Manju bhadauria), पूर्व सांसद चौधरी बाबूलाल (chaudhary babulal) की पुत्रवधू सीमा चौधरी (Seema Chaudhary), भाजपा नेता उमेश सैंथिया (umesh sainthia) की पत्नी सुमन सैंथिया (Suman Sainthia) को भी उम्मीदवार घोषित किया गया है।

आगरा जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट महिला होने के की वजह से कई नेताओं ने भी अपनी पत्नियों और बहुओं को मैदान में उतारा है निवर्तमान जिला अध्यक्ष रहे श्याम भदोरिया (Shyam bhadauria) ने अपनी पत्नी पूजा भदोरिया (Pooja Bhadauria) को वार्ड 28 जगनेर से जिला पंचायत सदस्य के लिए मैदान में उतारा है,तो वही पूर्व सांसद बाबूलाल चौधरी (chaudhary babulal)  ने अपनी पुत्रवधू सीमा चौधरी (Seema Chaudhary),  को वार्ड 20 अछनेरा से मैदान में उतारा है, पूर्व जिला महामंत्री सत्यदेव दुबे (Satyadev dubey) अपनी पत्नी रजनेश दुबे (Rajnesh Dubey) को वार्ड 33 सैयां से जिला पंचायत सदस्य के लिए मैदान में उतारा है, भाजपा नेता उमेश सैंथिया (umesh sainthia)  ने अपनी पत्नी सुमंत सेतिया (Suman Sainthia)  को वार्ड 29 जगनेर से जिला पंचायत सदस्य के लिए मैदान में उतारा है

वही बबीता चौहान (babita chauhan) वार्ड 31 खैरागढ़ से जिला पंचायत सदस्य के लिए मैदान में है ये महिलाएं जिला पंचायत सदस्य जीतने के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष की दावेदारी कर सकती हैं

वहीं अगर इन महिलाओं की राजनीतिक कैरियर की बात की जाए तो सर्वाधिक 20 वर्ष बबीता चौहान (babita chauhan) ने अपना कैरियर राजनीति में बिताया है बबीता चौहान (babita chauhan) को समाज सेविका के भी नाम से जाना जाता है।

कौन है बबीता चौहान जानते हैं

आगरा खेरागढ़ वार्ड 31 से जिला पंचायत सदस्य के पद पर भारतीय जनता पार्टी ने अपने प्रत्याशी के रूप में बबीता चौहान (babita chauhan) को मैदान में उतारा है बबिता चौहान (babita chauhan) भारतीय जनता पार्टी में पिछले 20 वर्षों से कार्य कर रही हैं साथ ही शहर की जानी-मानी समाजसेविका है इस समय  बबिता चौहान (babita chauhan) ब्रज क्षेत्र महिला मोर्चा की अध्यक्ष भी हैं। बबिता चौहान (babita chauhan) समाजसेवा में जाना पहचान नाम रखने वाले जितेन्द्र चौहान (Jitendra Chauhan) की धर्मपत्नी हैं।

बबीता चौहान (babita chauhan) शिकारपुर की रहने वाली हैं इनके पति जितेंद्र चौहान (Jitendra chauhan) एटा जिले के अवागढ़ के रहने वाले हैं इस समय  बबिता चौहान (babita chauhan) ब्रज क्षेत्र महिला मोर्चा की अध्यक्ष भी हैं जितेंद्र चौहान के पिता चेयरमैन भी रह चुके हैं बबिता चौहान (babita chauhan) सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेती हैं। उनके पति जितेन्द्र चौहान लॉयंस क्लब से राष्ट्रीय स्तर पर पदाधिकारी भी हैं

बबीता चौहान के पति की बात करूं तो जितेन्द्र चौहान लॉयंस क्लब से राष्ट्रीय स्तर पर पदाधिकारी भी हैं । इतना ही नहीं राजनीति जितेंन्द्र चौहान को विरासत में मिली है। जितेंन्द्र चौहान के पिता 26 साल एटा में चेयरमेन के पद पर रहे है। इस दौरान उन्होंने समाज के हर वर्ग के लिए काम किया।

सूत्रों की माने तो जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी बबिता चौहान (babita chauhan) के खाते में जाती हुई नजर आ रही है और मिले भी क्यों ना क्योंकि बबीता चौहान (babita chauhan) ने अपने कई वर्ष राजनीति में दिए हैं और इनका राजनीतिक करियर भी इन बाकी महिलाओं में सबसे अव्वल माना जा रहा है। बबीता चौहान में भी हर वर्ग के महिलाओं के लिए बिना किसी भेदभाव के मद्द करते हुए नजर आती है। वो हर वर्ग के गीराब लड़कियों की शादी करवाती है। भले ही इस बार आगरा में महिलाओं को बोलबाला लेकिन जो क्रेज बीबता चौहान के लिए नजर आता वो किसी और उम्मीद्वार के लिए दिखता है। आपको बता दे कि बबीता यहां कि बीजेपी की सक्रिय नेता है।  कई जनसभाओं को संबोधित करते हुए बबीता चौहान ने ये साफ कहा है कि,’ मैं लोगों की समस्याओं का हल करने में हर संभव प्रयास करूंगी और मैं यह वादा नहीं करती बल्कि संकल्प लेती हूं की लोगों की कोई भी समस्या होगी उसका निवारण करना मेरा पहला कर्तव्य होगा।’

तहसील खेरागढ़ से सोनू सिंघल की रिपोर्ट

Load More In आगरा
Comments are closed.