Home वायरल बिहार के इस गांव में हुआ ‘एलियन बेबी’ का जन्म, देखकर डर गए स्वास्थ्यकर्मी, उमड़ी भीड़

बिहार के इस गांव में हुआ ‘एलियन बेबी’ का जन्म, देखकर डर गए स्वास्थ्यकर्मी, उमड़ी भीड़

3 second read
0
393

नई दिल्ली : अक्सर देश-दुनिया से ऐसी खबरें आती रही है कि जिस बच्चे का जन्म हुआ वो अजूबा है। उसके पैर छोटे हैं या वो कोई बीमारी से परेशान है या वो थोड़ा अलग है। हालांकि इन सभी घटनाओं के दौरान डॉक्टर उस बच्चे का भरपूर ख्याल रखते है और उसे बचाने का भरपूर प्रयास भी करते है। लेकिन यहां डिलिवरी के बाद डॉक्टर उस बच्चे को देखकर बहुत भयभीत हो गए, हालांकि किसी तरह उन्होंने खुद को संभाला और इस बात की जानकारी परिजनों को दी।

आखिर क्यों भयभीत हुए डॉक्टर

दरअसल बिहार के गोपालगंज जिले के हथुआ अनुमंडल अस्पताल में गुरूवार को एक महिला ने अद्भूत बच्चे को जन्म दिया, जो बिल्कुल एलियन की तरह था। इस बच्चे की आंखें बड़ी-बड़ी व सूर्ख थी और शरीर की त्वचा सफेद नजर आ रही थी। जिस कारण इसे एलियन बेबी भी कहा जाने लगा। हालांकि चंद घंटों में ही इस नवजात ने दम तोड़ दिया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक गोपालगंज के मीरगंज के साहिबा चक्र गांव के चुनचुन यादव की पत्नी ने इस विचित्र बच्चे को जन्म दिया। यादव की गर्भवती पत्नी को बुधवार को हथुआ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गुरुवार सुबह महिला ने उसकी प्रसूति कराई गई। प्रसूति के बाद जब डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों ने नवजात बच्चे को देखा तो उनकी आंखें फटी की फटी रह गईं। बच्चे की दोनों आंखें बड़ी-बड़ी व सुर्ख थीं। ऊपर के जबड़े में वयस्कों जैसे बड़े—बड़े दांत थे। शरीर की त्वचा पर सफेद  रंग का आवरण था।

अधिक समयों तक जिंदा नहीं रहा सकी ‘एलियन बेबी’

आपको बता दें कि इस विचित्र बच्चे की सांसें मात्र ढाई घंटे चलीं। इसके बाद उसने दम तोड़ दिया। खबरों के मुताबिक प्रसूता की यह दूसरी डिलीवरी थी। दो साल पहले प्रसूता ने सामान्य बच्चे को जन्म दिया था, लेकिन सात दिन बाद उस बच्चे की भी मौत हो गई थी। जच्चा अभी स्वस्थ है। अस्पताल में उसका इलाज जारी है।

विचित्र बच्चों का जन्म क्यों होता है

डॉक्टरों का कहना है कि माता-पिता के जीन में बदलाव, जिसे जेनेटिक म्यूटेशन कहा जाता है, के कारण ऐसे बच्चों का जन्म होता है। पूर्व में पैदा हुए विचित्र बच्चे भी ज्यादा वक्त तक जी नहीं पाए थे। इनकी अधिकतम सात दिन की आयु मानी गई है। ऐसे बच्चों के सभी अंग विकसित नहीं होते हैं। इनकी त्वचा पर एक परत होती है, जिसके कारण वह प्राणवायु ग्रहण नहीं कर पाती। इसे हर्लेक्विन इचथिस्योसिस बीमारी कहा जाता है।

गौरतलब है कि यह कोई पहली बार नहीं जब बिहार से इस तरह का मामला सामने आ रहा है, इससे पहले भी इस तरह की घटना पटना की शैली से सामने आया था, जिसमें बच्चा विचित्र बिमारी से ग्रस्त था। जिसकी आंखें खेल-खेल में बाहर निकल जाती थी। बॉलीवुड एक्यर सलमान खान और कुणाल कपूर ने इस बच्चे का पूरा खर्च उठाया था।

ऐसे बच्चों के जन्म पर डॉक्टरों का कहना है कि 10 लाख बच्चों में से एक बच्चा ऐसा होता है, जो सामान्य से अलग होता है।

Load More In वायरल
Comments are closed.