Home mumbai परमवीर सिंह के बाद अनिल देशमुख की छीनी जा सकती है कुर्सी, माना हुई थी मनसुख हिरेन की हत्या

परमवीर सिंह के बाद अनिल देशमुख की छीनी जा सकती है कुर्सी, माना हुई थी मनसुख हिरेन की हत्या

2 second read
0
20

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में उस वक्त हड़कंप मच गया जब, एशिया के सबसे बड़े धनपति और देश के सबसे बड़े उद्योगपति अनिल अंबानी के घर एंटीलिया के सामने बीते 25 फरवरी को एक अज्ञात कार खड़ी मिली। पुलिस ने जब सूचना पाकर कार की ज़ॉच की तो उस कार से एक धमकी भरा पत्र मिला। जिसके बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए केंद्रीय जॉच एंजेंसी को जॉच सौंपी गई।

NIA ने जब अपने तरीके से जॉच शुरु की तो इसमें महाराष्ट्र पुलिस अधिकारी सचिन वाजे का नाम सामने आया, जिससे सभी होश उड़ गये। केंद्रीय जॉच एजेंसी NIA ने पुलिस अधिकारी सचिन वाजे को गिरफ्तार कर लिया है। NIA ने सचिन वाजे के खिलाफ 120 (बी), 286, 465, 473, 506(2) के तहत मामला दर्ज किया है।

शुक्रवार को मुंबई पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के केस के मामले में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की। खास बाक यह है कि अनिल देशमुख ने मनसुख हिरेन की मौत के मामले में बड़ा खुलासा किया है। अनिल देशमुख ने माना कि हिरेन की हत्या हुई थी। खबर है कि शरद पवार, अनिल देशमुख के काम को लेकर नाराज हैं, कयास लगाया जा रहा है कि अनिल देशमुख की कुर्सी भी छीनी जा सकती है।

सुबह 10 बजे महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के घर पहुंचे और करीब दो घंटे बाद वहां से निकले। सूत्रों की मानें तो पुलिस अधिकारी सचिन वाजे के फंसने के बाद महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह को उनके पद से हटा दिय़ा था। अटकलें तेज हो गई हैं कि इसके बाद गृहमंत्री अनिल देशमुख पर भी गाज गिर सकती है।

 

Load More In mumbai
Comments are closed.