1. हिन्दी समाचार
  2. क्राइम
  3. 10 साल बाद पुलिस की गिरफ्त में आई हत्यारी पत्नी, दे रही थी चकमा, पुलिस ने ऐसे ढूंढ़ निकाला

10 साल बाद पुलिस की गिरफ्त में आई हत्यारी पत्नी, दे रही थी चकमा, पुलिस ने ऐसे ढूंढ़ निकाला

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : प्रेमी संग अपनी पत्नी की हत्याकर फरार पत्नी तकरीबन 10 सालों बाद पुलिस की पकड़ में आई, जिसे क्राइम ब्रांच की टीम ने पकड़ा है। आपको बता दें कि यह घटना 2011 की है, इस घटना के बाद आरोपी पत्नी राजस्थान के अलवर में जाकर छिप गई थी। इस पर 50 हजार रुपये का इनाम रखा गया था। मामला कापसहेड़ा थाने में दर्ज है।

क्राइम ब्रांच के जॉइंट पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने बताया कि गिरफ्तार महिला का नाम शकुंतला है। 28 साल की शकुंतला अलवर में छिपकर रह रही थी। इसके ऊपर अपने साथी के साथ मिलकर 2011 में अपने पति रवि की हत्या करवाने का आरोप है। इस मामले में आरोपी महिला का दोस्त कमल 2018 में गिरफ्तार हो चुका है। क्राइम ब्रांच को इसके बारे में अलवर में छिपे होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने वहां डेरा डालकर इसे शनिवार को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस पूछताछ में आरोपी महिला ने बताया कि 2011 में जब वह 18 साल की थी तब उसकी शादी उसकी इच्छा के खिलाफ रवि कुमार (22 साल) से की गई थी। जबकि वह कमल के साथ रिलेशन में थी। इसी वजह से दोनों ने मिलकर रवि की हत्या कर दी। हत्या करने के बाद शव को अलवर मे एक जमीन में दबा दिया गया था। फिर वहां से कुछ दिनों बाद शव के गले-सड़े अवशेष निकालकर अलवर से रेवाड़ी के बीच में फेंक दिए गए थे। अलवर में शकुंतला के बॉयफ्रेंड कमल का बिज़नेस था।

हत्या के एक साल बाद महिला अपने ब्रॉयफ्रेंड के साथ राजस्थान में रहने लगी। 2017 में दोनों ने यह सोचकर शादी भी कर ली कि अब मामला दब गया है। हालांकि पुलिस ने मामले की छानबीन जारी रखी। एक रिश्तेदार के सुराग देने पर 2019 में पुलिस को दोनों के राजस्थान में होने का पता चला। पुलिस ने महिला के बॉयफ्रेंड कमल सिंगला को अरेस्ट कर लिया लेकिन शकुंतला पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो गई। 10 साल बाद पुलिस को इस मामले में कामयाबी हासिल हुई और उसने शकुंतला को अरेस्ट कर लिया है।

जॉइंट कमिश्नर (क्राइम) आलोक कुमार के मुताबिक, पुलिस को सूचना मिली थी कि महिला अलवर में वापस आ गई है। इसके बाद पुलिस ने महिला को पकड़ने के लिए करीब 15 दिन तक अलवर में घर-घर जाकर पूछताछ की और अंततः 17 जुलाई को उसे अरेस्ट कर लिया। शकुंतला को कोर्ट के सामने पेश किया गया जहां से उसे पूछताछ के लिए दो दिन के रिमांड पर भेजा गया।

पूछताछ में उसने बताया कि उसके पति रवि को उसके कमल के अफेयर के बारे में जानकारी हो गई थी और उसने उसके घर से बाहर जाने और फोन पर बात करने पर पाबंदी लगा दी थी। इसलिए उसने कमल के साथ मिलकर उसे रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। 22 मार्च 2011 को शकुंतला ने अपने पति रवि से उसे उसकी बहन के घर ले जाने के लिए कहा। रास्ते में उन्हें कमल मिला और दोनों ने रस्सी से गला घोंटकर रवि की हत्या कर दी। दोनों लाश को लेकर राजस्थान गए और वहां अलवर जाकर उसे दबा दिया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads