1. हिन्दी समाचार
  2. kolkata
  3. कोयला घोटाले संबंधित पूछताछ के लिए ईडी दफ्तर पहुंचे अभिषेक बनर्जी, पीएमएलए एक्ट के तहत लिखवाई शपथ

कोयला घोटाले संबंधित पूछताछ के लिए ईडी दफ्तर पहुंचे अभिषेक बनर्जी, पीएमएलए एक्ट के तहत लिखवाई शपथ

पश्चिम बंगाल में एक कथित कोयला घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तृणमूल कांग्रेस के महासचिव अभिषेक बनर्जी जाम नदर स्थित प्रवर्तन निदेशालय (ED) के दफ्तर पहुंचे हैं। अभिषेक बनर्जी को ईडी अधिकारियों ने पीएमएलए एक्ट के तहत लिखित में शपथ लिखवाई कि वे अपने बयानों के दौरान कोई भी गलत जानकारी नहीं देंगे और यदि वे ऐसा करते हैं तो इसके लिए खुद जिम्मेदार होंगे।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल में एक कथित कोयला घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तृणमूल कांग्रेस के महासचिव अभिषेक बनर्जी जाम नदर स्थित प्रवर्तन निदेशालय (ED) के दफ्तर पहुंचे हैं। अभिषेक बनर्जी को ईडी अधिकारियों ने पीएमएलए एक्ट के तहत लिखित में शपथ लिखवाई कि वे अपने बयानों के दौरान कोई भी गलत जानकारी नहीं देंगे और यदि वे ऐसा करते हैं तो इसके लिए खुद जिम्मेदार होंगे।

वहीं मीडिया से बातचीत करते हुए अभिषेक बनर्जी ने कहा कि उन्हें ईडी ने पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया था, उसी आधार पर वह सोमवार को ईडी के समक्ष पेश हुए हैं। उन्होंने कहा कि वह केंद्रीय एजेंसी को जांच में पूरा सहयोग करेंगे।

 

दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले अभिषेक ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद बीजेपी राजनीतिक बदला ले रही है। जांच को लेकर अभिषेक बनर्जी ने कहा, ”मैं किसी भी जांच का सामना करने के लिए तैयार हूं।”

ईडी ने सीबीआई की नवंबर 2020 की प्राथमिकी का अध्ययन करने के बाद यह मामला दायर किया था। सीबीआई का आरोप है कि आसनसोल के आसपास ईस्टर्न कोलफील्ड की कुछ खदानों से करोड़ों रुपये के कोयले की चोरी की गयी है। इस मामले में अनूप मांझी उर्फ लाला को मुख्य संदिग्ध बताया जा रहा है।

“आरोप साबित हो गए तो फांसी पर लटक जाउंगा”

एक दिन पहले डायमंड हार्बर से सांसद अभिषेक बनर्जी ने अपने ऊपर लगे मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप को लेकर कहा कि अगर कोई केंद्रीय एजेंसी किसी भी अवैध लेन-देन में उनकी संलिप्तता को साबित कर दे, तो वह खुद को फांसी पर लटका लेंगे। इस दौरान अभिषेक बनर्जी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद भाजपा राजनीतिक बदला ले रही है।

बता दें कि इससे पहले 1 सितंबर को अभिषेक की पत्नी रुजिरा को ईडी के सामने पेश होना था लेकिन उन्होंने मौजूदा कोविड स्थिति का हवाला देते हुए दिल्ली में ईडी के सामने पेश होने में असमर्थता जतायी थी। इसके साथ ही उन्होंने एजेंसी के अधिकारियों से अनुरोध किया कि वे उनके कोलकाता स्थित आवास पर आकर पूछताछ करें।

ममता बनर्जी ने साधा था केंद्र पर निशाना

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया था कि बंगाल विधानसभा चुनावों में भाजपा को मिली हार का बदला लने के लिए कोयला घोटाला मामले में उनके भतीजे अभिषेक के खिलाफ जांच एजेंसियों का प्रयोग कर रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...