Home उत्तराखंड Weather Alert: जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बुलाई आपातकालीन बैठक

Weather Alert: जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बुलाई आपातकालीन बैठक

6 second read
0
44

पहाड़ी इलाकों में विगत दो दिनों से हो रही भारी बर्फबारी और ठंड को देखते हुए जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन से जुड़े सभी नोडल अधिकारियों की आपातकालीन बैठक लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को अलर्ट पर रहने और सभी व्यवस्थाओं को चाक-चैबंद रखने को कहा। जिला स्तरीय अधिकारियों के अवकाश पर रोक लगाते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि कोई भी अधिकारी बिना अनुमति के किसी भी दशा में मुख्यालय ना छोड़े। 

बुधवार को जिला आपातकालीन परिचालन केंद्र में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई बैठक में बर्फबारी और ठंड से लोगों को राहत पहुंचाने पर जोर दिया गया। डीएम ने बर्फबारी वाले क्षेत्रों में सड़क, बिजली, पेयजल आपूर्ति, खाद्यान्न वितरण आदि जरूरी आवश्यकताओं की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि बर्फवारी से जो भी मोटर मार्ग अवरुद्ध हुए हैं। उसको आवागमन के लिए तत्काल सुचारू करना सुनिश्चित करें।

ईई विद्युत को जिले विद्युत आपूर्ति को सुचारू बनाए रखने के लिए जल्द ठोस कदम उठाने के निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने चेतावनी दी कि यदि विद्युत आपूर्ति सुचारू करने के लिए समय अन्तर्गत कार्यवाही नहीं की गई। तो आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की धारा-56 के तहत सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

जिले में बीएसएनएल की लचर सेवा पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने एसडीओ बीएसएनल को संचार व्यवस्था सुचारू रखने हेतु ठोस कदम उठाने के निर्देश दिए। कहा कि एनएचआईडीसीएल से समन्वय रखते हुए सड़क कटिंग वाले स्थानों पर कटिंग से पहले लाइन को शिफ्ट करें ताकि बार-बार लाइन अवरूद्व न हो।

जिले में लगातार हो रही बर्फबारी और ठंड को देखते हुए डीएम ने 9 जनवरी को सभी आंगनबाडी केन्द्रों में अवकाश रखने के भी आदेश जारी किए है। वही आम जन मानस को ठंड से राहत दिलाने के लिए सभी प्रमुख स्थलों पर अलाव जलाने और तहसील स्तर पर गरीब लोगों में शीघ्र कंबल बांटने के भी निर्देश दिए। उन्होंने आईआरएस के नोडल अधिकारियों को अलर्ट पर रहने और किसी भी प्रकार की आपदा की सूचना तत्काल जिला आपातकालीन परिचालन केंद्र को उपलब्ध कराने को कहा है। 

बता दें कि विगत दो दिनों से जिले में हो रही बर्फबारी के कारण 8 मोटर मार्ग बाधित हुई हैं, जिनको खोलने का कार्य जारी है। जोशीमठ विकासखंड के डुमक कलगोठ, लांमबगड,पुलना तथा पोखरी के 10 गांव एवं गोपेश्वर के कुंड क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति बाधित है। विकासखंड दशोली के पाणा-ईरानी-धारकुमला में भी विद्युत आपूर्ति बाधित हुई है, जिसे ठीक किए जाने की कार्रवाई गतिमान है। बर्फबारी के कारण जोशीमठ ब्लाक में 60, पोखरी में 8, गैरसैंण में 4, थराली में 34, घाट में 10 तथा दशोली में 14 सहित कुल 130 गांव बर्फबारी से प्रभावित हुए हैं।

Share Now
Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.