Home उत्तराखंड सड़क निर्माण नहीं होने से बागेश्‍वर में ग्रामीणों ने विधायक का वाहन रोक कर किया चक्‍का जाम

सड़क निर्माण नहीं होने से बागेश्‍वर में ग्रामीणों ने विधायक का वाहन रोक कर किया चक्‍का जाम

5 second read
0
8

बागेश्वर : रैथल-ओलिंग, भेरू-ओखलधार मोटर मार्ग का निर्माण नहीं होने से खफा ग्रामीणों ने सोमवार को तुड़तुड़िया के समीप पिंडारी मोटर मार्ग को जाम कर दिया। उन्होंने क्षेत्रीय विधायक बलवंत भौर्याल के वाहन को भी रोका और नारेबाजी की। विधायक ने छह माह के भीतर सड़क का निर्माण कराने का आश्वासन देने पर गुस्साए ग्रामीणों ने आंदोलन स्थगित किया।

रैथल, ओलिंग, भेरू, ओखलधार के ग्रामीणों ने पिंडारी मोटर मार्ग के तुड़तुड़िया के समीप सड़क पर चक्का जाम किया। पुलिस बल ने लोगों को सड़क से हटाने की भरपूर कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने। इसबीच उनकी पुलिस से भी तीखी नोकझोंक हुई। ग्रामीणों ने कहा कि 16 किमी मोटर मार्ग का निर्माण 2017-18 में तीन बार हो गया है। ग्रामीणो को सड़क निर्माण में किसी भी प्रकार की आपत्ति भी नहीं है। बार-बार सर्वे कार्य किए जाने से निर्माण कार्य की प्रगति पर असर पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण ठगा महसूस कर रहे हैं। लोक निर्माण विभाग कपकोट उन्हें बार-बार गुमराह कर रहा है। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी को चार जनवरी 2021 को एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन करने का एल्टीमेटम दिया गया था। जिसके तहत उन्होंने तुड़तुड़िया के समीप कपकोट-पिंडारी मोटर मार्ग पर आंदोलन किया।

इस बीच क्षेत्रीय विधायक का वाहन भी ग्रामीणों ने रोक दिया। विधायक के आश्वासन के बाद ग्रामीण माने और शीघ्र सड़क का निर्माण नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। इस मौके पर पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी, ग्राम प्रधान रैथल मुन्नी देवी, पूजा देवी, ममता देवी, कमला देवी, सरस्वती देवी, चंपा देवी, मीना देवी, मंजू देवी, शांति देवी, भावना देवी, गीता देवी, हंसी देवी समेत ग्रामीण मौजूद थे।

कपकोट-पिंडारी मुख्य मोटर मार्ग के तुड़तुड़िया के समीप लगभग एक घंटे तक ग्रामीणों ने चक्काजाम किया। जिससे दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। ग्रामीणों की मांग को स्थानीय टैक्सी चालकों ने भी समर्थन दिया। इसके अलावा कांग्रेस ने भी ग्रामीणों की मांग जायज बताई। कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष दीपक गढ़िया ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक ने छह माह का आश्वासन दिया है। यदि सड़क का निर्माण शीघ्र नहीं होता है तो पुन: कांग्रेस ग्रामीणों को समर्थन देगी और उग्र आंदोलन किया जाएगा।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.