Home उत्तराखंड प्रशासन की अगुवाई में अतिक्रमण और अवैध निर्माण तोड़े गए, भारी पुलिस बल के चलते अभियान बाधित नहीं हुआ

प्रशासन की अगुवाई में अतिक्रमण और अवैध निर्माण तोड़े गए, भारी पुलिस बल के चलते अभियान बाधित नहीं हुआ

0 second read
0
4

देहरादून: प्रशासन की अगुवाई में विभागीय टीमों की ओर से पलटन बाजार में विरोध के बीच अतिक्रमण तोड़े गए। काफी संख्या में चिन्हित अतिक्रमण तोड़ने के लिए प्रशासन ने तीन जेसीबी लगाई। भारी पुलिस बल के चलते अभियान बाधित नहीं हो पाया।  बुधवार सुबह 10 बजे एसडीएम गोपाल राम बेनवाल की अगुवाई में घंटाघर से अभियान शुरू हुआ।चार टीम तीन जेसीबी, चार ट्रक और दो छोटे वाहन लेकर बाजार में घुसी।

पलटन बाजार के अंदर घुसते ही जेसीबी से अतिक्रमण तोड़ने की कार्रवाई शुरू हुई। तभी व्यापारियों ने भारी विरोध कर दिया। इससे हंगामा खड़ा हो गया लेकिन अभियान में शामिल पुलिस फोर्स की सख्ती के चलते व्यापारी अभियान को रोक नहीं पाए। विरोध के बीच तीन जेसीबी पलटन बाजार में अतिक्रमण तोड़ने के लगा दी।

जेसीबी से दुकानों के फुटपाथ तक आए छज्जे उखाड़ दिए गए। दो से तीन मंजिल तक की दुकानों के छज्जे जेसीबी से ध्वस्त किए गए। अतिक्रमण हटाओ दस्ते के सख्त रुख को देखते हुए दुकानदारों ने खुद ही अतिक्रमण तोड़ने शुरू कर दिए। तमाम दुकानदार मजदूरों के साथ खुद हथौड़े चलाते हुए दिखे  अतिक्रमण तोड़ने में जूटे रहे।

पलटन बाजार में अभियान के दौरान भीड़ इकट्ठी हो गई। इसके लिए पुलिस को सख्ती दिखाकर बार बार भीड़ हटानी पड़ी। जेसीबी से अतिक्रमण होने के दौरान बिजली की तारे, केवल भी। चपेट में आए। अभियान दल जब मिशन स्कूल के पास पहुंचा तो यहां पर भी व्यापारियों ने टीम का विरोध शुरू कर दिया। इस दौरान पुलिस ने व्यापारियों को समझाया। टीम जेसीबी को लेकर आगे बढ़ती चली गई।  दुकानों के छज्जे और अन्य निर्माण तोड़ते हुए टीम धमावाला बाजार के पास पहुंची  जहां अभियान को समाप्त कर दिया गया।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.