Home उत्तराखंड राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने परिवार के साथ परमार्थ निकेतन में नवरात्र की सप्तमी पर किया पूजन

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने परिवार के साथ परमार्थ निकेतन में नवरात्र की सप्तमी पर किया पूजन

0 second read
0
2

देहरादून : शुक्रवार सुबह सात बजे वह अपने पैतृक गांव घीडी के लिए रवाना हो गए। इस दौरान परमार्थ निकेतन के स्वामी चिदानंद मुनि सरस्वती के साथ हवन में भाग लिया।

परमार्थ निकेतन में स्वामी चिदानन्द सरस्वती के सानिध्य में प्रतिदिन प्रातःकालीन प्रार्थना, हवन, नवरात्र पर दिव्य उद्बोधन और राष्ट्रगान नियमित रूप से होता है। जिसमें परमार्थ गुरुकुल के ऋषिकुमार, आश्रम में निवास करने वाले सभी सदस्य भाग लेते हैं। शुक्रवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भी राष्ट्रगान में भाग लिया।

स्वामी चिदानंद मुनि ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। जिसमें खसरा, पोलियो, हैजा जैसे रोगों के उन्मूलन हेतु कई वर्षो से चलाए जा रहे टीकाकरण कार्यक्रमों पर बात हुई।

भारत अब पोलियो मुक्त देश हो गया है। यह एक बड़ी उपलब्धि है। स्वामी चिदानंद मुनि ने बताया कि परमार्थ निकेतन में रात्रि विश्राम के बाद वह शुक्रवार सुबह सात बजे अपने पैतृक गांव पौड़ी जिले के कोट ब्लॉक स्थित घीडी गांव के लिये रवाना हो गये।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल शुक्रवार को सिद्धपीठ मां ज्वाल्पा देवी मंदिर की पूजा कर पौड़ी पहुंचे। यहां सर्किट हाउस में उन्होंने गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी ली। शनिवार को एनएसए डोभाल अपने पैतृक गांव घीड़ी जाएंगे। जहां वह पत्नी अरुणा डोभाल के साथ कुल देवी मां बाल कुंवारी की पूजा करेंगे।
एनएसए बनने के बाद यह तीसरा मौका है जब वे कुल देवी की पूजा के लिए अपने पैतृक गांव पहुंच रहे हैं।निजि कार्यक्रम के तहत एनएसए अजीत डोभाल शुक्रवार को पत्नी के साथ मां ज्वाल्पा देवी मंदिर पहुंचे।
यहां मंदिर के मुख्य पुजारी नवीन चंद्र अंथवाल, सुरेंद्र कुकरेती, राजेंद्र प्रसाद अंथवाल ने पूजा संपन्न कराई। इसके बाद उन्होंने यहां भगवान शिव व काल भैरव मंदिर में भी शीश नवाए और कुछ समय मंदिर के पुजारियों समिति के पदाधिकारियों से बातचीत भी।
मंदिर परिसर में करीब 50 मिनट रहने के बाद वे पौड़ी के लिए रवाना हुए। यहां पहुंचने पर सर्किट हाउस में उन्होंने गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी ली और सीधे विश्राम कक्ष में चले गए। जानकारी के मुताबिक शनिवार सुबह वे अपने पैतृक गांव कोट ब्लाक के घीड़ी गांव पहुंचेंगे। यहां एनएसए डोभाल कुल देवी मां बाल कुंवारी की पूजा-अर्चना करेंगे।
बताया गया कि है पूजा के बाद वे यहीं से दिल्ली के लिए रवाना हो सकते हैं। इस मौके पर डीएम  धीराज सिंह गर्ब्याल, एसएसपी पी. रेणुका देवी, एसडीएम सदर एसएस राणा, सीओ सदर वंदना वर्मा, जिला पंचायत सदस्य गौरव रावत आदि शामिल थे।
Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.