Home उत्तराखंड प्रदेश में स्कूली शिक्षा की तर्ज पर उच्च शिक्षण संस्थानों को भी नवंबर महीने से खोलने की तैयारी

प्रदेश में स्कूली शिक्षा की तर्ज पर उच्च शिक्षण संस्थानों को भी नवंबर महीने से खोलने की तैयारी

0 second read
0
3

देहरादून : पहले चरण में स्नातकोत्तर कक्षाओं के संचालन को अनुमति मिल सकती है। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ धन सिंह रावत ने इस संबंध में राज्य विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा निदेशालय को तैयारी करने के निर्देश दिए हैं।

राज्य सरकार आगामी दो नवंबर से सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में 10वीं व 12वीं की कक्षाएं संचालित करने के आदेश जारी कर चुकी है। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के बीच खोले जा रहे इन स्कूलों के लिए एसओपी (मानक प्रचालन कार्यविधि) जारी की जा चुकी है। अब सरकार उच्च शिक्षण संस्थाओं को भी सीमित तरीके से खोलने को लेकर गंभीरता से विचार कर रही है। दरअसल इस तरह का फीडबैक निजी और सरकारी, दोनों क्षेत्रों के विशेषज्ञों की ओर से सरकार को मिला है।

उच्च शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि बीते दिनों इस संबंध में राज्य विश्वविद्यालयों के कुलपतियों और उच्च शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों के साथ बैठक में उच्च शिक्षण संस्थानों को खोलने पर विचार किया गया। उन्होंने कहा कि आम छात्र के हित में सीमित तरीके से डिग्री कॉलेजों में पढ़ाई आगामी नवंबर से शुरू करने के बारे में जल्द अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि स्नातकोत्तर कक्षाओं को पहले चरण में शुरू किया जाएगा। इस संबंध में उच्च शिक्षा विभाग की ओर से एसओपी जारी की जाएगी। सरकार को इस मामले में केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के साथ ही यूजीसी के निर्देशों का भी इंतजार है। विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों को इस संबंध में जरूरी तैयारी करने को कहा गया है।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.