Home उत्तराखंड शुरुआती तीन महीने के सड़क हादसों के ऑकड़े से दहला देवभूमि उत्तराखंड, परिवहन विभाग के अधिकारियों में मचा हड़कंप

शुरुआती तीन महीने के सड़क हादसों के ऑकड़े से दहला देवभूमि उत्तराखंड, परिवहन विभाग के अधिकारियों में मचा हड़कंप

3 second read
0
15

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

देहरादून: देवभूमि उत्तराखंड एक ओर कोविड की महामारी से जूझ रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ सड़क हादसों के ऑकड़े ने प्रशासन की नींद उड़ा दी है। सूबे में हादसों का जो ऑकड़ा पेश किया गया है, वह काफी चिंतनीय है। परिवहन विभाग के सामने जब इस साल के तीन महीने के ऑकड़े सामने आये तो हड़कंप मच गय़ा। साल 2020 की तुलना में इस साल के तीन महीने के आंकड़ो ने सबकी नींद उड़ा दी है।

आपको बता दें कि अगर इसी अनुपात में ऑकड़ा बढ़ता गया तो 1000 पार करने में भी ज्यादा समय नहीं लगेगा। साल 2020 में पूरे साल में जितने हादसे और मौतें नहीं हुई, उतना इस साल जनवरी, फरवरी और मार्च में हो गई हैं। परिवहन विभाग के माथे पर चिंता की लकीरें आ गई हैं।

आइये जानते हैं किस जिले में  सड़क दुर्घटनाओं में कितने लोगो ने गंवाई जान?

उत्तरकाशी  जिले की बात करें तो साल 2020 में कोई भी सड़क दुर्घटना नहीं हुई थी, जबकि इस साल 2021 में दो सड़क दुर्घटनाओं में दो लोगो की जान गई है। टिहरी जिले की बात करें तो साल 2020 में दो सड़क दुर्घटना हुई थी, इस दौरान  सात लोगो की मौत हो गई थी। वहीं इस साल 2021 में तीन दुर्घटनाओं में  चार की मौत हो गई है।

वहीं चमोली जिले में साल 2020 में कोई सड़क दुर्घटना नहीं हुआ था, जबकि इस साल एक दुर्घटना हो चुका है, जिसमें  एक की मौत हुई है। रुद्रप्रयाग जिले में साल 2020 में एक सड़क दुर्घटना हुआ था, जिसमें एक की मौत हुई थी। यहां गलीमत है, साल 2021 के शुरुआती तीन महीनों में कई भी हादसा नहीं हुआ है।

पौड़ी गढ़वाल जिले में साल 2020 में एक दुर्घटना हुई थी, गलीमत यही थी कि किसी की भी मौत नहीं हुई थी। वहीं इस साल के शुऱुआती तीन महीनों में चार सड़क दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, इस दौरान तीन की मौत हुई है। जबकि देहरादून जिले में साल 2020 में 13 दुर्घटना हुई थी, जिसमें आठ की मौत भी हुई थी। बात करें इस साला की तो इस साल के शुरुआती तीन महीनों में 43 सड़क दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, इस दौरान 17 लोगो ने अपनी जान गंवाई है।

हरिद्वार जिले की बात करें तो साल 2020 में 17 दुर्घटना हुई थी, जिसमें 10 मौते भी हुई थी। वहीं इस साल के शुरुआती तीन महीनों में  37 दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। जिसमें 26 लोगों मे अपनी जान गंवाई है। नैनीताल जिले की बात करें तो साल 2020 में 11 सड़क दुर्घटनाएं हुई थी, जिसमें  सात मौतें हुई थी। जबकि इस साल के शुरुआती तीन महीनों में 23 सड़क दुर्घटनाएंहो चुकी हैं। इस दौरान नौ लोगो ने अपनी जान गंवाई है। ऊधमसिंह नगर जिले में साल 2020 में 37 दुर्घटनाओं, 32 मौतें हुई थी। जबकि इस साल के शुरुआती तीन महीनों में 32 दुर्घटनाओं, 19 मौतें हो चुकी हैं। अल्मोड़ा जिले की बात करें तो साल 2020 में कोई सड़क दुर्घटना नहीं हुई थी। लेकिन इस साल के शुऱुआती तीन महीनों में चार दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, इस दौरान  एक की मौत हुई है।

पिथौरागढ़ जिले की बात करें तो साल 2020 में एक दुर्घटना, एक मौत, वहीं इस साल के शुऱुआती तीन महीनों में कोई सड़क दुर्घटना नहीं हुई है। वहीं चंपावत चिले में साल 2020 में कोई भी सड़क दुर्घना नहीं हुई थी, जबकि इस साल के शुऱुआती तीन महीने में एक दुर्घटना में एक मौत हुई है। वहीं बागेश्वर जिले में साल 2020 में कोई दुर्घटना नहीं हुई थी, जबकि इस साल के शुऱुआती तीन महीनों में भी कोई सड़क दुर्घटना नहीं हुई है।

इस दौरान नोडल अधिकारी, सड़क सुरक्षा सुधांशु गर्ग ने कहा कि “पिछले साल से तुलना करें तो इस साल महज तीन माह के भीतर ही दुर्घटनाएं और मृतक व घायलों की संख्या में भारी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। हमने सभी आरटीओ को निर्देशित किया है कि वह बड़े स्तर पर अभियान चलाएं। सड़क दुर्घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए व्यापक अभियान चलाया जा रहा है।“

 

 

 

 

 

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.