Home क्राइम तहसीलदार के दरवाजे पर छापेमारी के लिए खड़ी थी एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम, पत्नी के साथ मिलकर तहसीलदार ने चूल्हे पर जला दिए 20 लाख रुपये

तहसीलदार के दरवाजे पर छापेमारी के लिए खड़ी थी एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम, पत्नी के साथ मिलकर तहसीलदार ने चूल्हे पर जला दिए 20 लाख रुपये

2 second read
0
604

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

जयपुर: देश में भ्रष्टाचार दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है, सरकार लगातार भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने की कोशिश कर रही है, लेकिन जिन अफसरों के कंधो पर इसकी जिम्मेदारी होती है, वही भ्रष्ट हो जाये, तो सरकारें भी विवश हो जाती हैं। भ्रष्टाचार का राजस्थान से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे जानकर आप भी दंग हो जायेंगे। बुधवार को एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम पिंडवाड़ा के तहसीलदार कल्पेश जैन के घर पर छापेमारी करने के लिए पहुंची तो वह अंदर 20 लाख रुपये की रकम को चूल्हे में जलाने लगे।

छापेमारी करने गई टीम ने जब नोटों को आग के हवाले करने का यह नजारा देखा तो इसका वीडियो बना लिया। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि तहसीलदार की पत्नी भी नोटों को जलाने में मदत करती दिख रही हैं। जबकि घर के बाहर से झांक रहा एक शख्स कहता है कि मैडम आप भी इस तरह से साथ दे रही हैं, यह अच्छी बात नहीं है।

 

आपको बता दें कि एंटी करप्शन ब्यूरो की एक टीम ने पिंडवाडा के राजस्व निरीक्षक परबत सिंह को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था। इस दौरान अधिकारीयों ने बताया कि आरोपी परबत सिंह द्वारा रिश्वत की राशि पिंडवाड़ा के तहसीलदार कल्पेश कुमार जैन के लिए लेने की बात स्वीकार थी। टीन तत्कार परबत सिंह को गिरफ्तार कर ली थी, और जब ब्यूरो की टीम तहसीलदार के निवास पर उसे गिरफ्तार करने पहुंची तो उसने अपने घर के दरवाजे बंद करके भीतर करीब 15-20 लाख रुपये की भारतीय मुद्रा जला भी दी।

टीम ने जानकारी देते हुए कहा कि तहसीलदार को गिरफ्तार कर लिया गया है। तहसीलदार ने 500 रुपये के नोटों की गड्डियों को गैस-चूल्हे में जलाने की कोशिश की। इस मामले में एंटी करप्शन ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि आरोपी तहसीलदार कल्पेश जैन ने परिवादी से पिंडवाडा में प्राकृतिक पैदावार आवंला छाल का ठेका दिलवाने की एवज में राजस्व निरीक्षक परबत सिंह के मार्फत एक लाख रुपये की राशि की मांग की थी।

उन्होंने आगे बताया कि आरोपी परबत सिंह को परिवादी से एक लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि मामले में तहसीलदार कल्पेश कुमार जैन की संलिप्तता पाए जाने पर जब ब्यूरो का दल उसे गिरफ्तार करने पहुंचा तो उसने अपने घर का दरवाजे बंद करके भीतर रखी करीब 15-20 लाख रुपये की राशि को गैस के चूल्हे पर जलाने का प्रयास किया।

उन्होने कहा कि स्थानीय पुलिस की मदत से तहसीलदार के निवास पर तलाशी ली गई। इसदौरान उसके निवास से एक लाख 50 हजार रुपये बरामद किये गये। उन्होंने बताया कि आरोपी तहसीलदार कल्पेश कुमार जैन को भी मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है, और आरोपियों के निवास एवं अन्य ठिकानों की तलाशी जारी है।

Load More In क्राइम
Comments are closed.