1. हिन्दी समाचार
  2. ताजा खबर
  3. दिल्ली में भी पेट्रोल की क़ीमत 8 रुपये हुई कम, एमसीडी चुनाव के सबब लिया गया फ़ैसला, अवाम को कुछ राहत

दिल्ली में भी पेट्रोल की क़ीमत 8 रुपये हुई कम, एमसीडी चुनाव के सबब लिया गया फ़ैसला, अवाम को कुछ राहत

Petrol price in Delhi also reduced by Rs 8, decision taken due to MCD elections, some relief to people; केजरीवाल सरकार ने पेट्रोल की क़ीमत में की कमी। पंजाब और छत्तीसगढ़ में डीजल और पेट्रोल की कीमतों में कमी पहले ही कर दी है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

मुमताज़ आलम रिज़वी

नई दिल्ली : दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने भी आख़िरकार पेट्रोल की क़ीमत में कमी कर दी। दिल्ली सरकार के फ़ैसले के मुताबिक़ पेट्रोल में 8 रूपये क़ीमत प्रति लीटर कम की गई है। यह फ़ैसला एमसीडी के अलावा पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में होने वाले विधानसभा चुनाव के पेशे नज़र लिया गया है क्यूंकि आम आदमी पार्टी के लीडर पंजाब और उत्तर प्रदेश में बतौर ख़ास बड़े बड़े वादे कर रहे हैं और जहाँ वह ये बड़े वादे करते हैं वहां दिल्ली सरकार पर सवाल उठ जाते हैं। ख़्याल रहे कि उत्तर प्रदेश समेत भाजपा की प्रदेश सरकारों ने केंद्र सरकार के फ़ैसले के बाद ही पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी कर दी थी।

पंजाब और छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकारों ने भी डीजल और पेट्रोल की कीमतों में कमी पहले ही कर दी है। दिल्ली सरकार ने यह फ़ैसला आज कैबिनेट की बैठक में लिया है। तफ़्सीली रिपोर्ट के मुताबिक़ दिल्ली सरकार ने बैठक में बड़ा फैसला लेते हुए पेट्रोल पर लगने वाले 30 प्रतिशत के वैट को लगभग 11 प्रतिशत घटाते हुए 19.40 प्रतिशत कर दिया है।

पेट्रोल की कीमत अब दिल्ली में आठ रुपये प्रति लीटर तक घट गई है, इस तरह अब दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 103 रुपये से घटकर 95 रुपये हो जाएगी। पेट्रोल के घटे हुए दाम आज आधी रात से लागू होंगे। दिल्ली में बीते 27 दिन से कीमत नहीं बदली थी। इससे पहले केजरीवाल सरकार ने 4 नवंबर को पेट्रोल और डीजल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी में कटौती की थी, जिससे रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचे पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कुछ कमी आई थी।

इसी के साथ ही अब दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें एनसीआर के शहरों के बराबर हो जाएगी। इससे उन वाहन चालकों को बहुत फायदा होगा जो दिल्ली में कीमत कम होने के चलते नोएडा गाजियाबाद, गुरुग्राम आदि जाकर पेट्रोल भरवाते थे। केंद्र सरकार ने पहले ही पेट्रोल-डीजल पर टैक्स घटा दिया था, जिसके बाद से राज्य सरकारों पर दबाव था कि वह अपने स्तर पर वैट की कीमतों में कमी कर जनता को राहत दें। उत्तर प्रदेश समेत कई राज्य पहले ही पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले वैट को कम कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...