Home उत्तराखंड दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आमंत्रण पर कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक दिल्ली नहीं पहुंचे,इस पर ‘आप’ के प्रभारी ने कहा, मदन कौशिक ने एक बार फिर साबित कर दिया कि उनकी कथनी और करनी में फर्क है

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आमंत्रण पर कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक दिल्ली नहीं पहुंचे,इस पर ‘आप’ के प्रभारी ने कहा, मदन कौशिक ने एक बार फिर साबित कर दिया कि उनकी कथनी और करनी में फर्क है

0 second read
0
5

देहरादून: आप के प्रदेश प्रभारी मोहनिया ने प्रेस बयान जारी कर कहा कि उत्तराखंड मॉडल के बाद दिल्ली मॉडल पर चर्चा करने के लिए मनीष सिसोदिया ने मदन कौशिक को छह जनवरी को दिल्ली आने का निमंत्रण दिया था। लेकिन, बीती चार जनवरी की तरह मदन कौशिक दिल्ली भी नहीं पहुंचे।

आम आदमी पार्टी  के उत्तराखंड प्रभारी दिनेश मोहनिया ने पलटवार करते हुए कहा कि मदन कौशिक ने एक बार फिर साबित कर दिया कि उनकी कथनी और करनी में फर्क है। उन्होंने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया दिल्ली में भी मदन कौशिक का इंतजार करते रहे।

प्रेस बयान में मोहनिया ने जिक्र किया है कि बीते वर्ष 20 दिसंबर को मदन कौशिक ने मनीष सिसोदिया की उत्तराखंड में हुए विकास कार्यो पर बहस की चुनौती को स्वीकार करते हुए कहा था कि सिसोदिया उत्तराखंड आएं, हम उन्हें पांच नहीं 100 काम गिनाएंगे। मनीष सिसोदिया ने उन्हें निमंत्रण भेजा, लेकिन मदन कौशिक ने पीठ दिखाने में ही भलाई समझी।

इस खुली बहस का इंतजार पूरे प्रदेश की जनता को था, लेकिन मदन कौशिक ने सभी को निराश किया। तब उन्होंने कहा था कि विकास पर बहस दिल्ली में होगी। लेकिन, तय समय पर कौशिक दिल्ली भी नहीं पहुंचे। दिल्ली के जिस मॉडल पर उन्होंने सवाल उठाए थे, वही मॉडल दिखाने के लिए दिल्ली के उप मुख्यमंत्री ने उन्हें आमंत्रित किया था। उन्होंने यह भी कहा कि आप उत्तराखंड की जनता को यकीन दिलाती है कि पार्टी जो वादा करेगी, उसे पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.