Home क्राइम एक नहीं कई बार बेची गई नाबालिक, खबर पढ़ कर कांप जायेंगे होश

एक नहीं कई बार बेची गई नाबालिक, खबर पढ़ कर कांप जायेंगे होश

1 second read
0
26

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

जहानाबाद: बिहार सरकार अपराध पर लगाम लगाने की जितनी भी कोशिश कर रही है, वह सब बेकार ही साबित होता दिख रहा है। सुशासन बाबू की सरकार में कयास लगाया जा रहा था, कि बिहार से जंगलराज पूरी तरह से खत्म हो जायेगा। लेकिन यह कयास केवल कयास ही रह गया। बिहार से जंगलराज की एक ऐसी खबर सामने आ रही है, जिसे जानकर आपके रोंगटे खड़े हो जायेंगे।

साल 2018 जून का महीना बिहार के एक नाबालिक लड़की का अपहरण होता है। जिसके बाद परिजनों ने अपहरण का केस दर्ज कराया। खास बात यह है कि अपहरण का केस नामजद दर्ज कराया। इन आपोरपियों में एक हिमांचल प्रदेश बाकी सब बिहार के ही हने वाले थे। आपको बता दें कि आरोपियों की गैंग महिलाओं और नाबालिक बच्चीयों का अपहरण कर उन्हे बेच देते थे। इनके गैंग में एक महिला भी शामिल थी। जिसने इस अपहरण की साजिश रची थी।

महिला ने नाबालिक को अपने जाल में फंसाया और उसे अपहरण करवाकर उत्तर प्रदेश के नोएडा और राजस्थान के दौसा तक भिजवा दिया। इधर परिवार वाले बच्ची को लेकर काफी चिंतित थे। परिवार और बच्ची के रिश्तेदार स्थानीय एसएसपी से लेकर बिहार के डीजीपी तक शिकायत लेकर चक्कर काटते रहे, और एक ही मांग करते रहे कि उनकी बेटी और बहन को वापस ला दो।

सुशासन बाबू की पुलिस पर आरोप है कि पुलिस पीड़िता के परिजनों का बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही थी। हद तो तब हो गई जब पुलिस वालों ने परिजनों से यह कहकर टरका दिया कि आपकी लड़की प्रेम प्रसंग के चलते भाग गई। पुलिस का सहयोग न मिलने से नाबालिग का भाई दिन-रात पुलिस और प्रशासन के चक्कर काटता रहा और अपने स्तर पर ही कॉल डिटेल और मोबाइल की लोकेशन ट्रेस करता रहा।

एक दिन नाबालिक के भाई को पता चल ही गया कि उसकी बहन राजस्थान के दौसा में है। जिसके बाद उसने स्थानिय पुलिस को लेकर दौसा आया। इसके बाद बिहार पुलिस दौसा की सदर थाना पुलिस के सहयोग से गांगल्यावास गांव पहुंची और महिला को कब्जे में ले लिया।

उसके बाद महिला की हालत देखकर उसके भाई का रो-रो कर बुरा हाल हो गया। पीड़िता ने अपने भाई को पूरी आपबीती सुनाई। महिला के साथ खरीदारों ने शादी नहीं की और उसके दो बच्चे भी हो गए। उस महिला को कई जगह बेचा गया। आपको बता दें कि अगर प्रारंभिक तरीके से बिहार पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लिया होता तो पीड़िता की ये हालत नहीं हुई होती।

Load More In क्राइम
Comments are closed.