1. हिन्दी समाचार
  2. मनोरंजन
  3. इंटरनेट सेंसेशन Urfi Javed को नहीं इस्लाम में यकीन, पढ़ रहीं भगवद गीता, बोलीं- मुस्लिम लड़के से नहीं करूंगी शादी

इंटरनेट सेंसेशन Urfi Javed को नहीं इस्लाम में यकीन, पढ़ रहीं भगवद गीता, बोलीं- मुस्लिम लड़के से नहीं करूंगी शादी

Internet sensation Urfi Javed does not believe in Islam, is reading Bhagavad Gita; इंटरनेट सेंसेशन Urfi Javed का बड़ा बयान। Urfi Javed को नहीं इस्लाम में यकीन। मुस्लिम लड़के से शादी नहीं करेंगी उर्फी।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : इंटरनेट सेंसेशन उर्फी जावेद इन दिनों लगातार सुर्खियों में है, कभी वो अपने ड्रेस को लेकर तो कभी वो अपने बयान को लेकर। हालांकि ऐसा बहुत कम होता है जब वो अपने किसी बयान को लेकर सुर्खियों में हो। क्योंकि उनका ड्रेस अप सेंस ही उन्हें सुर्खियों में बनाये रखता है। जिसे लेकर वो कभी-कभी ट्रोल का भी शिकार हो जाती है।

हालांकि इस बार उर्फी के सुर्खियों में रहने का कारण उनका ड्रेसिंग सेंस नहीं बल्कि एक बयान है, जिसे लेकर भारी हाय तौबा मच सकता है। आपको बता दें कि उर्फी जावेद एक कंजरवेटिव मुस्लिम फैमिली से ताल्लुक रखती हैं। लेकिन फिर भी वो मुस्लिम लड़के से शादी नहीं करना चाहती हैं। और न उन्हें इस्लाम में यकीन है। बता दें कि उर्फी ने ये बाते IndiaToday.in को दिये हुए एक इंटरव्यू में बताया।

उर्फी ने कहा कि मैं कभी भी मुस्लिम लड़के से शादी नहीं करूंगी। मैं इस्लाम में यकीन नहीं रखती हूं और मैं कोई भी धर्म फॉलो नहीं करती हूं। इसलिए मुझे परवाह नहीं है कि मैं किस से प्यार करती हूं। हमें उसी से शादी करनी चाहिए, जो हमें पसंद हो। अपने ट्रोल होने पर उर्फी ने कहा कि बोल्ड लुक्स फ्लॉन्ट करने पर उन्हें इसलिए ट्रोल किया जाता है, क्योंकि इंडस्ट्री में उनका कोई गॉडफादर नहीं है। खासकर इसलिए भी ट्रोलिंग होती है, क्योंकि वो मुस्लिम हैं।

उर्फी ने कहा कि मैं एक मुस्लिम लड़की हूं। इसलिए ज्यादातर हेट कमेंट्स मुझे मुस्लिम लोगों के ही मिलते हैं। उनका कहना है कि मैं इस्लाम की छवि खराब कर रही हूं।

उर्फी ने कहा कि मुस्लिम लड़के मुझसे नफरत करते हैं, क्योंकि वो चाहते हैं कि उनकी महिलाएं एक निश्चित तरीके से ही बर्ताव करें। वो अपने समुदाय की हर महिला को कंट्रोल करना चाहते हैं। इस वजह से मैं इस्लाम में विश्वास नहीं रखती हूं। वो मुझे इसलिए ट्रोल करते हैं, क्योंकि मैं उस तरह से बर्ताव नहीं करती हूं, जिस तरह वो मुझसे अपने धर्म के अनुसार उम्मीद रखते हैं।

उर्फी ने आगे कहा कि मेरे पिता बहुत ज्यादा कंजरवेटिव थे। जब मैं 17 साल की थी, तब उन्होंने मेरी मां और हम सबको छोड़ दिया था। मेरी मां बहुत धार्मिक महिला हैं, लेकिन उन्होंने कभी भी हम पर अपना धर्म नहीं थोपा। उन्होंने बताया कि मेरे भाई-बहन इस्लाम धर्म फॉलो करते हैं, लेकिन मैं नहीं करती। इसके लिए उन्होंने कभी मुझे फोर्स नहीं किया और ऐसा ही होना चाहिए। आप अपनी पत्नी और बच्चों पर अपना धर्म थोप नहीं सकते। हर चीज दिल से आनी चाहिए, नहीं तो न आप और न ही अल्लाह खुश होंगे।

उर्फी ने आगे कहा कि मैं अभी भगवद गीता पढ़ रहा हूं। मैं धर्म (हिंदू धर्म) के बारे में और जानना चाहती हूं। आपको बता दें कि उर्फी जावेद बिग बॉस के ओटीटी प्लेटफॉर्म में नजर आ चुकी है, जहां से वे पहले ही हफ्ते घर से बाहर हो गई। घर से बाहर होने के बाद उर्फी जावेद आज एक फैशन डीवा बन चुकी हैं। उर्फी के अतरंगी और बोल्ड आउटफिट्स सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर छाए रहते हैं। उर्फी की बढ़ती हुई पॉपुलैरिटी का पूरा क्रेडिट उनके कपड़ों और ड्रेसिंग सेंस को ही जाता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...