Home मनोरंजन भारत की पहली ऑस्कर विजेता भानू अथैया का निधन, तीन साल से थी बीमार

भारत की पहली ऑस्कर विजेता भानू अथैया का निधन, तीन साल से थी बीमार

5 min read
0
4

भारत की पहली ऑस्कर विजेता भानू अथैया ने 91 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। मशहूर इंडियन कॉस्ट्यूम डिजाइनर भानू अथैया ने ही भारत के लिए पहला अकादमी और ऑस्कर पुरस्कार जीता था।

उन्होंने 1956 में बॉलीवुड एक्टर गुरू दत्त की फिल्म सीआईडी से बतौर कॉस्ट्यूम डिजाइनर अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उनकी बेटी ने इस बात की जानकारी दी कि वह लंबे समय से बीमार चल रही थीं और बीते गुरुवार उनका निधन हो गया। वह पिछले तीन साल से बिस्तर पर थीं।

View this post on Instagram

In loving memory of Bhanu Rajopadhye Athaiya (28 April 1929-15 October 2020) It is with a heavy heart that we share the news of the passing of Bhanu Rajopadhye Athaiya at the age of 91. She leaves behind a rich and wonderful legacy built on creativity, fortitude, and immense talent. One of the early members of the Bombay Progressives group, Bhanu Rajopadhye had an historically important early career as an artist, exploring the possibilities of Indian Modernism with her contemporaries at the J.J. School of Art and the Progressive Artists' Group. The diary entries from her days as a student remain a valuable mine of insights and delightful stories of the heady early days of this iconic art movement. Indeed, Bhanu Rajopadhye's early paintings are an incredible study in the experimentation with styles by a curious and talented hand. As a bright, young student, she explored her fascination with human anatomy and fashion through her illustrations for the 1950s women's magazine, "Eve's Weekly". Bhanu Rajopadhye Athaiya would go on to become one of the leading creators for the aesthetic of a young India through her work on costumes for Bollywood films. If Hitchcock and Hollywood had Edith Head, India had Bhanu Athaiya. Think of an iconic Bollywood "fashion moment", likely she created it. In 1983, she won the Academy Award for Costume Design for her work on Richard Attenborough's film "Gandhi". She was the first Indian to win the prestigious award. From a trailblazing modernist artist to an Award-winning designer, Bhanu Rajopadhye Athaiya will always remain one of India's finest creative spirits. #prinseps #bhanuathaiya #jjschoolofarts #progressiveartistsgroup #indianfashiondesigner #bollywooddesigner #restinpeace #goldenmemories #oscarwinner #academyawards

A post shared by Prinseps Auctions & Gallery (@prinseps) on

भानू अथैया  की बेटी राधिका ने उनके निधन की जानकारी देते हुए कहा, “आज सुबह उनका निधन हो गया। आठ साल पहले उनके दिमाग में ट्यूमर होने का पता चला था।

वह पिछले तीन सालों से बिस्तर पर ही थीं, क्योंकि उनके शरीर के एक हिस्से में लकवा मार गया था.” बताया जा रहा है कि उनका अंतिम संस्कार दक्षिण मुंबई के चंदनवाड़ी शवदाह गृह में किया जाएगा।

उनके निधन को लेकर सोशल मीडिया यूजर भी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। बता दें कि भानू अथैया ने गुरू दत्त, यश चोपड़ा, बी.आर चोपड़ा, राज कपूर, विजय आनंद, राज खोसला और आशुतोष गोवारिकर के साथ कॉस्ट्यूम डिजाइनर के तौर पर काम किया है।

बता दें कि भानू अथैया को रिचर्ड एटेनबरो की फिल्म ‘गांधी’ के लिए बेस्ट कॉस्ट्यूम के लिए ऑस्कर अवॉर्ड से नवाजा गया था। उन्होंने करीब 100 से ज्यादा बॉलीवुड फिल्मों में बतौर कॉस्ट्यूम डिजाइनर काम किया था। आखिरी बार भानू अथैया ने आमिर खान की फिल्म ‘लगान’ और शाहरुख खान की फिल्म ‘स्वदेस’ में कॉस्ट्यूम डिजाइनर के तौर पर काम किया था।

Load More In मनोरंजन
Comments are closed.