1. हिन्दी समाचार
  2. भाग्यफल
  3. इन परिस्थितियों में पत्नी समेत भाई-बहन का कर देना चाहिए त्याग, जानें ऐसा क्यों कहा है आचार्य चाणक्य ने

इन परिस्थितियों में पत्नी समेत भाई-बहन का कर देना चाहिए त्याग, जानें ऐसा क्यों कहा है आचार्य चाणक्य ने

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: आचार्य चाणक्य का नाम आते ही लोगो में विद्वता आनी शुरु हो जाती है। आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति और विद्वाता से चंद्रगुप्त मौर्य को राजगद्दी पर बैठा दिया था। इस विद्वान ने राजनीति,अर्थनीति,कृषि,समाजनीति आदि ग्रंथो की रचना की थी। जिसके बाद दुनिया ने इन विषयों को पहली बार देखा है। आज हम आचार्य चाणक्य के नीतिशास्त्र के उस नीति की बात करेंगे, जिसमें उन्होने बताया है कि इन परिस्थितियों में पत्नी समेत भाई-बहन का कर देना चाहिए त्याग।

आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में बताया है कि पति-पत्नी का रिश्ता जीवन में काफी अहम होता है। जीवन में आने वाली गंभीर से गंभीर चुनौतियों को दोनों एक दूसरे के सहयोग से पार करते हैं। वहीं अगर कोई ऐसी पत्नी है, जो हमेशा क्रोध में रहती है और अपने पति के हर कार्य में अड़चन खड़ी करती है। आचार्य चाणाक्य के मुताबिक ऐसी पत्नी का ठीक समय पर त्याग कर देना चाहिए वरना जीवन नरक हो जाता है।

आचार्य चाणक्य ने कहा है कि जो धर्म हिंसा की बात करता है और उसमें दया की कोई जगह नहीं होती। उस धर्म का त्याग कर देना उचित होता है। ऐसा धर्म इंसान के भीतर से मानवता को खत्म कर देता है। बिना दया और अहिंसा के जीवन में कोई मूल्य नहीं बचता।

उन्होने कहा है कि हमारे समाज में गुरु का एक विशेष स्थान होता है। माता-पिता और गुरु से ज्यादा मूल्यवान जीवन में कुछ भी नहीं है। ऐसे में गुरु के संदर्भ में चाणक्य कहते हैं कि जो गुरु अपने शिष्य को ठीक शिक्षा नहीं देता। ऐसे गुरुओं का त्याग कर देना चाहिए।  

इसके साथ ही उन्होने बताया है कि जीवन में भाई-बहन का काफी अनमोल रिश्ता होता है। सुख-दुख में यही लोग एक दूसरे का सहारा बनते हैं। ऐसे में आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अगर आपका भाई बहन आपसे किसी भी प्रकार का स्नेह या प्रेम भाव नहीं रखता और विपरीत परिस्थितियों में साथ खड़ा नहीं होता। इस तरह के भाई बहन का समय रहते त्याग कर देना उचित होता है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads