Home भाग्यफल ये 3 काम करने के तुरंत बाद स्त्री हो या पुरुष करें स्नान, जानें आचार्य चाणक्य द्वारा बताये वो तीन काम

ये 3 काम करने के तुरंत बाद स्त्री हो या पुरुष करें स्नान, जानें आचार्य चाणक्य द्वारा बताये वो तीन काम

0 second read
1
9

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: आचार्य चाणक्य का नाम आते ही लोगो में विद्वता आनी शुरु हो जाती है। आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति और विद्वाता से चंद्रगुप्त मौर्य को राजगद्दी पर बैठा दिया था। इस विद्वान ने राजनीति,अर्थनीति,कृषि,समाजनीति आदि ग्रंथो की रचना की थी। जिसके बाद दुनिया ने इन विषयों को पहली बार देखा है। आज हम आचार्य चाणक्य के नीतिशास्त्र के उस नीति की बात करेंगे, जिसमें उन्होने बताया है कि     स्त्री हो या पुरुष ये 3 काम करने के तुरंत बाद करें स्नान, वरना सेहत पर पड़ेगा बुरा असर, आइये जानते हैं चाणक्य की बताई बातें…

तैलाभ्यङ्गे चिताधूमे मैथुने क्षौरकर्मणि।

तावद् भवति चाण्डालो यावत् स्नानं न चाचरेत्।

आचार्य चाणक्य ने इस श्लोक के माध्यम से बताया है कि जब आप अपने शरीर में तेल की मालिश करें, या फिर किसी शवयात्रा से लौटकर आए हो, किसी स्त्री या पुरुष के साथ प्रसंग किया हो या फिर आपने अपने बाल कटवाएं हो। इन स्थितियों में आपको जरूर नहाना चाहिए। इससे आपकी सेहत सही रहेगी।

आचार्य चाणक्य ने बताया है कि अगर किसी की मृत्यु हो गई है और आप उसकी शवयात्रा में जा रहे हैं तो वहां से वापस आकर तुरंत स्नान करना चाहिए। बिना स्नान करें घर के अंदर भी प्रवेश नही करना चाहिए। उन्होने तर्क दिया है कि जब आप श्मशान जाते है तो वहां पर अनेकों तरह के कीटाणु होते है जो आपके शरीर के साथ कही न कही चिपक कर चले आते है। इसलिए तुरंत आकर नहाना चाहिए जिससे वह कीटाणु आपके घर में न फैलें। इसके साथ ही आपके और परिवार के किसी सदस्य की सेहत पर बुरा अर न पड़े।

वहीं उन्होने इस श्लोक के माध्यम से आगे बताया है कि हमारें शरीर को तेल की अधिक मात्रा में जरूरत होती है, क्योकि इसी से हमारा शरीर चमकदार और सेहतमंद बनता है। इसलिए सप्ताह में एक दिन जरूर तेल से मालिश करनी चाहिए, लेकिन साथ में इस बात का ध्यान भी रखना चाहिए कि तेल मालिश के बाद तुरंत नहा ले। ऐसा करने से आपके शरीर की पूरी गंदगी बाहर निकल जाएगी जिससे आपकी त्वचा चमकदार और सेहतमंद हो हो जाती। इसके साथ ही मालिस करने के तुरंत बाद स्नान करे। इसके बाद ही घर से बाहर कदम निकाले।

आचार्य चाणक्य ने श्लोक के माध्यम से अंत में बताया है कि जब हम अपने बाल कटवाते है तो वह हमारे शरीर में छोटे-छोटे बाल चिपक जाते है जो बिना नहाए नही हट सकते है। इसलिए हमें नहाना जरुर चाहिए। जिससे हमें सेहत संबंधी कोई भी समस्या न हो। और बाल हमारे शरीर से हट जाएं।

Load More In भाग्यफल
Comments are closed.