Home क्राइम बेहद दर्दनाक: पहले हुई पाउरी, फिर चाकू घोंपकर हत्या को दिया अंजाम

बेहद दर्दनाक: पहले हुई पाउरी, फिर चाकू घोंपकर हत्या को दिया अंजाम

0 second read
0
23

इंदौर: इंदौर में दो युवकों की पार्टी के दौरान चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। एक युवक ने करीब 200 मीटर तक जान बचाने की कोशिश में दौड़ लगाई, लेकिन नहीं बचा सका जान। घटनास्थल से काफी दूर तक पुलिस को खून के निशान मिले हैं। दोनों पक्षों में पहले जमकर लड़ाई हुई थी। बताया जा रहा है कि उज्जैन के बदमाशों से इनका कुछ दिन पहले विवाद हुआ था। पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई है। दोनों आपराधिक प्रवृति के थे, हत्या के प्रयास, लूट और मारपीट के कई मामले इनपर दर्ज थे।

खुन से लथपथ पड़ी थी लाशें

एडीशनल एसपी शशिकांत कनकने ने बताया की घटना बुधवार देर रात की है। बाणगंगा थाना क्षेत्र के करोल बाग स्थित कालिंदी गोल्ड कॉलोनी के मेन रोड पर दो युवकों की खून से लथपथ लाश पड़ी थी। इनकी शिनाख्त अर्पित घाटे निवासी लवकुश विहार और गौरव मिश्रा निवासी गौरी नगर के रूप में हुई है। गौरव के पिता भोपाल में सशस्त्र बल में पदस्थ हैं। वहीं, अर्पित का परिवार मूलत: महाराष्ट्र का रहने वाला है।

गैंगवार ने हमला कर कत्ल को दिया था अंजाम
बताया जा रहा हैं कि दोनों मृतक आरोपियों के साथ ही करोल बाग के खाली मैदान में पार्टी करने के लिए बैठे थे। पार्टी के दौरान ही सबसे पहले आरोपियों ने गौरव मिश्रा पर चाकुओं से 10 से 15 वार किए। इस पर अर्पित अपनी जान बचाने के लिए भागा तो बदमाशों ने उसका पीछा किया। करीब 200 मीटर दूर दौड़ाकर उसे भी चाकुओं से गोद गोद कर उस पर करीब 10 से 15 वार कर उसकी निर्मम हत्या कर दी।

200 मीटर दूर मिली लाश

बाणगंगा थाने के टीआई राजेंद्र सोनी ने बताया कि करोल बाग के सामने एक शव मिलने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। वहां अर्पित घाटे का शव मिला। मौके पर ​​​​​​तहकिकात की तो अर्पित की लाश से करीब 200 मीटर की दूरी पर दूसरे युवक की चप्पल मिली। वहां पर एक गाड़ी खड़ी थी। आसपास भी खून के निशान   मिले थे। पुलिस ने खून के निशानों के आधार पर आगे बढ़े तो दूसरी लाश भी पड़ी मिली। पुलिस ने क्षैत्र के लोगों से शिनाख्त करवाई तो वहां के एक नाबालिग ने बताया कि यह गौरव मिश्रा है, जिसके पिता एसएएफ में पदस्थ हैं। पता करने पर उसका आपराधिक रिकॉर्ड सामने आया है। हत्या में अप्पू, मोगली, कान्हा और उज्जैन के बदमाश भूरा का नाम सामने आ रहा है।

उज्जैन के बदमाशों के साथ हुआ था विवाद

बता दें कि जिन दोनों युवकों की हत्या हुई है, 15 दिन पहले उनका विवाद उज्जैन के बदमाश भूरा, अप्पू, मोगली और कान्हा के साथ हुआ था। उस समय दोनों ने हीरानगर थाने पर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पुलिस के अनुसार गौरव के पेट पर चाकू के निशान मिले हैं। जबकि अर्पित के हाथ, गले और छाती में चाकू घोंपा गया है। पुलिस को मौके से एक बिना नंबर की स्कूटर भी मिली है। अर्पित पर अलग-अलग थानों में हत्या का प्रयास, लूट, चोरी, अड़ीबाजी जैसे संगीन मामले दर्ज हैं। वहीं, गौरव भी आपराधिक प्रवृत्ति का था।

Load More In क्राइम
Comments are closed.