Home bollywood प्राण के खतरनाक किरदार से डरकर सिनेमाघर से भाग उठी थी महिला, लोगों के छुटे थे पसीने

प्राण के खतरनाक किरदार से डरकर सिनेमाघर से भाग उठी थी महिला, लोगों के छुटे थे पसीने

2 second read
0
46

रिपोर्ट- पल्लवी त्रिपाठी

मुंबई : नेगेटिव रोल के लिए मशहूर अभिनेता प्राण का आज जन्मदिन है । प्राण का जन्म 12 फरवरी, 1920 को पुरानी दिल्ली के बल्लीमारान में हुआ था । आज हम प्राण से जुड़े दिलचस्प किस्सों के बारे में बात करने जा रहे हैं ।

बनने चले थे फोटोग्राफर, बन गए एक्टर

दरअसल, एक्टर प्राण पहले फोटोग्राफर बनना चाहते थे और उन्होंने अपना स्टूडियो भी खोला था । जिसके चलते प्राण इधर-उधर घूम रहे थे । वहीं मशहूर फिल्म निर्माता-निर्देशक मोहम्मद वली अपनी फिल्म ‘यमला जट’ के लिए हीरो की तलाश में थे। जिस बीच एक पान की दुकान पर मोहम्मद वली की नज़र प्राण पर पड़ी । और उन्होंने प्राण को फिल्म में काम करने का ऑफर दिया। फिर क्या प्राण राजी हो गए।

प्राण की एक्टिंग से लोगों के छूटते थे पसीने

प्राण अपने अभिनय को इतनी बारीकी से निभाते थे कि उन्हें लोग फिल्म के हीरो से भी ज्यादा पसंद करते थे । हालांकि, कई बार आलम ये रहता था कि लोग उनकी अदायगी को देख थर्रा उठते थे । सन् 1958 में उनकी फिल्म ‘अदालत’ सिनेमाघरों में लगी हुई थी । इस फिल्म में प्राण के खतरनाक किरदार से सिनेमाघर में बैठीं महिलाएं इतना डर गईं थी की वे हॉल से भाग गई थीं । वहीं अन्य दर्शकों के पसीने छूट गए थे।

1 रुपये की फीस में की थी फिल्म

प्राण ने अभिनेता और निर्देशक राज कपूर की फिल्म ‘बॉबी’ में काम करने के लिए सिर्फ 1 रुपये की फीस ली थी । दरअसल, उस दौरान राज कपूर आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे । क्योंकि राज कपूर ‘बॉबी’ से पहले अपनी फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ बनाने के लिए अपना सारा पैसा लगा चुके थे। जिसके चलते प्राण ने 1 रुपये में उनकी फिल्म की थी ।

प्राण ने लौटाया था फिल्मफेयर अवॉर्ड

इस अवॉर्ड को लौटाने की वजह थी कि उसी साल निर्देशक कमाल अमरोही की फिल्म ‘पाकीज़ा’ को एक भी पुरस्कार नहीं मिले थे। पुरस्कार लौटाकर प्राण ने इस मामले में अपना विरोध जताया था । उनका कहना था कि ‘पाकीज़ा’ को अवॉर्ड न देकर फिल्मफेयर ने अवार्ड देने में चूक की है ।

Load More In bollywood
Comments are closed.