Home mumbai सचिन वाजे के खिलाफ मिला एक और सबूत, फर्जी आधार कार्ड पर फाइव-स्टार होटल में ठहरता था, जॉच टीम ने दमन से वॉल्वो कार किया बरामद

सचिन वाजे के खिलाफ मिला एक और सबूत, फर्जी आधार कार्ड पर फाइव-स्टार होटल में ठहरता था, जॉच टीम ने दमन से वॉल्वो कार किया बरामद

8 second read
0
14

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

मुंबई: एक ओर महाराष्ट्र बढ़ते कोरोना महामारी से जूझ रहा है, तो दूसरी ओर सियासी उथल-पुथल से जूझ रहा है। कोरोना महामारी दिन पर दिन राज्य को अपनी चपेट में ले रही है, तो वहीं उद्धव सरकार पर दिन पर दिन आरोप भी बढ़ता ही जा रहा है। राज्य के गृह मंत्री पर एक बड़ा आरोप लगा, और इस आरोप को कोई सियासी पार्टी ने नहीं लगाया है, बल्कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर और सरकार के सबसे बड़े वजीर परमवीर सिंह ने लगाया है।

दरअसल, एंटीलिया केस की जॉच कर रही केंद्रीय एजेंसी NIA ने मुंबई पुलिस अफसर सचिन वाजे पर अपना शिकंजा कसा, जिसके बाद वाजे को सस्पेंड कर दिया गया। NIA एटीलिया मामले में वाजे को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। इसी बीच सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह का तबादला कर दिया। परमवीर सिंह को होमगार्ड विभाग का डीजी बना दिया।

मनसुख हिरेन हत्याकांड में जॉच कर रही महाराष्ट्र ATS को बड़ा सबूत हाथ लगा है। मंगलवार को जॉच के दौरान ATS को दमन की एक गाड़ी मिली है। दावा किया गया है इस गाड़ी का इस्तेमाल महाराष्ट्र पुलिस अधिकारी सचिन वाजे ने किया था। इसके साथ जॉच कर रही टीम को एक और सबूत हाथ लगा है। सचिन वाजे फाइव स्टार होटल में फर्जी आधार कार्ड दिखाकर रुका हुआ था।

मिली जानकारी के मुताबिक ATS टीम को जो दमन से वॉल्वो कार हाथ लगी है, उसकी जॉच NIA भी कर रही है। इसके साथ ही गाड़ी को जब्त कर लिया गया है। महाराष्ट्र में उठा-पटक उस वक्त शुरु हुआ, जब अनिल अंबानी के घर एटीलिया के सामने विस्फोटक से भरी कार बरामद हुई थी। इसके कुछ दिनों बाद मनसुख हिरेन का शव बरामद किया गया था। जब इस मामले की जॉच की गई तो जांच में पाया गया कि मनसुख हिरेन की हत्या हुई है।

मनसुख हिरेन के मौत की जॉच ATS कर रही है। आपको बता दें कि बीते दिनों इस मामले में गुजरात में भी ज़ॉच की गई। जहां से ATS ने कई सिम बरामद किए थे और लोगों से पूछताछ शुरू कर दी थी। पुलिस को सबूत मिले थे कि अहमदाबाद से खरीदा गया था। जिसके बाद एटीएस की टीम गुजरात पहुंची थी। इस हत्याकांड के आरोप में पकड़े गए दो आरोपियों में से एक ने गुजरात से सिम खरीदने की बात कबूल की थी।

इसके साथ टीम ही हत्याकांड प्रकरण में एक और जानकारी सामने आई है, सूत्रों के मुताबिक सचिन वाजे मुंबई के फाइव स्टार होटल में फर्जी आधार कार्ड दिखाकर ठहरा था। NIA ने फर्जी आधार कार्ड को भी जब्त कर लिया है। मिली जानकारी के अनुसार वाजे 16 फरवरी को एक होटल में रुका था। जॉच टीम ने सीसीटीवी फुटेज भी जब्त कर ली है। NIA की टीम वाजे से होटल में रुकने का कारण जानना चाह रही है।

सचिन वाजे को लेकर लगातार विवाद हो रहा है, आपको बता दें कि इससे पहले उनका नाम एंटीलिया मामले में भी सामने आया था। महाराष्ट्र एटीएस ने मनसुख हिरेन मामले में भी सचिन वाजे को मुख्य आरोपी माना. सचिन वाजे अभी एनआईए की कस्टडी में हैं और 25 मार्च तक सलाखों के पीछे ही रहेंगे।

Load More In mumbai
Comments are closed.