Home भाग्यफल अपने शत्रु की कमजोरियों का पता लगाने लिए करें बस ये काम, आचार्य चाणक्य ने बताया है समाधान

अपने शत्रु की कमजोरियों का पता लगाने लिए करें बस ये काम, आचार्य चाणक्य ने बताया है समाधान

0 second read
0
3

रिपोर्ट: सत्य़म दुबे

नई दिल्ली: आचार्य चाणक्य का नाम आते ही लोगो में विद्वता आनी शुरु हो जाती है। आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति और विद्वाता से चंद्रगुप्त मौर्य को राजगद्दी पर बैठा दिया था। इस विद्वान ने राजनीति,अर्थनीति,कृषि,समाजनीति आदि ग्रंथो की रचना की थी। जिसके बाद दुनिया ने इन विषयों को पहली बार देखा है। आज हम आचार्य चाणक्य के नीतिशास्त्र के उस नीति की बात करेंगे, जिसमें उन्होने बताया है कि शत्रु की कमजोरियों का पता लगाने लिए बस करें एक ये काम, आइये जानते हैं आचार्य चाणक्य की बताई गई वो बातें…

आचार्य़ चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में एक श्लोक में बताया है कि आखिर शत्रु की कमजोरियों का पता कैसे लगा सकते हैं। आचार्य ने बताया है कि सामने वाले के राज को खोलने में उसकी आंखें अहम भूमिका निभाती हैं। ऐसे में व्यक्ति की आंखों से उसके दिल के हाल का पता लगाया जा सकता है।

उन्होने तर्क देते हुए कहा कि जब हम किसी से मिलते हैं और उसके बारे में जानने की इच्छा रखते हैं। ऐसे में हम आंखों के जरिए उस व्यक्ति की अच्छाई व बुराई का पता सकते हैं। उन्होने आगे कहा है कि व्यक्ति अपने राज को छिपाने के लिए झूठ का सहारा लेता है, लेकिन उसकी आंखें दिल का आइना होती हैं। ऐसे में सामने वाले की आंखें ये राज खोल देती हैं कि आखिर उसके मन में क्या चल रहा है।

आचार्य ने आगे बताया कि व्यक्ति का डर और आत्म विश्वास दोनों उसकी आंखों में दिखाई पड़ता है। ऐसे में व्यक्ति को सिर्फ आंखें पढ़ने की कला आनी चाहिए। उनका तर्क है कि व्यक्ति की आंखों को पढ़ना ज्यादा मुश्किल काम नहीं है।

Load More In भाग्यफल
Comments are closed.