Home दिल्ली बड़ी खबर: केजरीवाल की बेटी हर्षिता से ठगी करने वाले हुए गिरफ्तार, लेकिन…

बड़ी खबर: केजरीवाल की बेटी हर्षिता से ठगी करने वाले हुए गिरफ्तार, लेकिन…

0 second read
0
4

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: साइबर ठगी का एक केस दिल्ली से सामने आया था, इस केस में कोई साधारण व्यक्ति ठगी का शिकार नहीं हुआ था, बल्कि ठगी का शिकार होने वाली दिल्ली की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता थी। आपको बता दें कि सीएम अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता को ठगो ने 34 हज़ार का चूना लगाया था।

जिसके बाद हरकत आई पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, उनका नाम कपिल, साजिद और मनविंदर है। आपको बता दें कि सीएम केजरीवाल की बेटी हर्षिता ने एक पुराने सोफे को बेचने के लिए ऑनलाइन साइट पर जानकारी डाली थी। सोफे की जानकारी ऑनलाइन आने के बाद एक शख्स ने केजरीवाल की बेटी से संपर्क किया और कहा कि वो सोफ़ा खरीदना चाहता है। लेकिन मुख्यमंत्री की बेटी इस बात से बिल्कुल अंजान थी कि जिससे वो बात कर रही है वो एक साइबर ठग है।

ठगी करने वाले ने केजरीवाल की बेटी को कहा कि वो उसके अकाउंट में कुछ पैसे ट्रांसफर कर के देख रहा है और उसने अकाउंट में कुछ पैसे डाले। वो रकम केजरीवाल की बेटी के अकाउंट में आ गई। इससे हर्षिता का विश्वास उस शख्स पर पक्का हो गया कि जो सोफा ख़रीदना चाहता है वो सही आदमी है।

इसके बाद उस शख्स ने केजरीवाल की बेटी को एक क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए कहा जैसे ही हर्षिता ने बार कोड स्कैन किया उसके अकाउंट से 20 हज़ार रुपये गायब हो गए। हर्षिता ने पलटकर उसे फ़ोन किया और कहा कि ये क्या हुआ है? तब वो शातिर ठग बोला कि गलती से हो गया इस बार नहीं होगा लेकिन एक बार फिर अकाउंट से 14 हज़ार रुपये गायब हो गए। उसके बाद हर्षिता को समझ आया कि वो ठगी की शिकार हो चुकी हैं।

इस घटना को पुलिस ने संज्ञान में लेकर जब जांच शुरू की तो पता चला कि जिस अकाउंट में पैसे गए है उस अकाउंट से पैसे आगरा से निकाले गए हैं। पुलिस की टीम ने जब उस अकाउंट की जांच की तो कपिल नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया गया इसने पूछताछ में बताया कि वो सिर्फ अपने अकाउंट में पैसे मंगवाता है और ठगी के पैसों में अपना हिस्सा लेता है।

आपको बता दें कि कपिल फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कई फेक अकाउंट भी खुलवाया हैं। कपिल से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने साजिद को गिरफ्तार किया। आपको बता दें कि  ये भी ठगों को फेक अकाउंट उपलब्ध करवाता है पैसा मंगवाने के लिए।

दो लोगो को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस की टीम ने मनविंदर को गिरफ्तार किया। पुलिस की मानें तो मनविंदर भी मथुरा का ही रहने वाला है, और मनविंदर फेक बैंक अकाउंट खोलने के लिए फर्जी दस्तावेज उपलब्ध करवाता है।

पुलिस ने भले ही तीन लोगो को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन पुलिस को अभी इस ठग गिरोह के मास्टरमाइंड की तलाश है जो अभी तक फरार है। पुलिस का दावा है कि उसे भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Load More In दिल्ली
Comments are closed.