1. हिन्दी समाचार
  2. SPORTS
  3. पत्नी से तलाक के बाद फिर टीम से निकाला गया बाहर, जानिए कैसे किया इस क्रिकेटर ने कमबैक…

पत्नी से तलाक के बाद फिर टीम से निकाला गया बाहर, जानिए कैसे किया इस क्रिकेटर ने कमबैक…

टीम इंडिया के स्टार ओपनर शिखर धवन (Shikhar Dhawan) के लिए पिछला कुछ समय बेहद खराब रहा है। पिछले साल ही शिखर धवन का अपनी पत्नी के साथ तलाक हो गया था। इसके बाद ये खिलाड़ी टीम से भी बाहर कर दिया गया। हालांकि इतने खराब समय के बाद भी धवन ने हिम्मत नहीं हारी और उन्होंने टीम में वापस अपनी जगह बना ली।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट:पायल जोशी

नई दिल्ली: टीम इंडिया के स्टार ओपनर शिखर धवन (Shikhar Dhawan) के लिए पिछला कुछ समय बेहद खराब रहा है। पिछले साल ही शिखर धवन का अपनी पत्नी के साथ तलाक हो गया था। इसके बाद ये खिलाड़ी टीम से भी बाहर कर दिया गया। हालांकि इतने खराब समय के बाद भी धवन ने हिम्मत नहीं हारी और उन्होंने टीम में वापस अपनी जगह बना ली।

बता दें अब इसी बीच धवन ने एक बड़ा राज खोलते हुए बताया कि वो इस खराब समय से कैसे पार पाए थे। भारतीय सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) का मानना है कि उनके करियर के प्रत्येक मुश्किल दौर ने उन्हें ‘मजबूत’ बनाया है। भारतीय वनडे टीम में सबसे उम्रदराज खिलाड़ी धवन की घरेलू क्रिकेट में खराब फॉर्म को लेकर काफी बातें की गई थी। लेकिन उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले वनडे में 79 रन बनाकर शानदार वापसी की।

धवन से मैच के बाद वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में पूछा गया कि वह स्वयं को नकारात्मकता से कैसे दूर रखते हैं, उन्होंने कहा, ‘मैं मीडिया की नहीं सुनता, मैं समाचार पत्र नहीं पढ़ता और समाचार नहीं देखता। इस तरह से मुझे यह सब जानकारी नहीं मिलती।’ उन्होंने कहा, ‘मुझे खुद पर पूरा भरोसा है कि मेरा खेल कैसा है इसको लेकर मेरी सोच स्पष्ट है। मैं शांतचित बने रहता हूं। यह जीवन का हिस्सा है, जीवन में ऐसा होता है। हर किसी के जीवन में उतार-चढ़ाव आते हैं, इसलिए इसमें कुछ भी नया नहीं है। मेरे करियर में पहली या आखिरी बार ऐसा नहीं हो रहा है। ऐसा होता है यह मुझे मजबूत बनाता है।’

दरअसल धवन (Shikhar Dhawan) ने दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर जाने से पहले विजय हजारे ट्राफी के पांच मैचों में शून्य, 12, 14, 18 और 12 रन बनाए थे। लेकिन जब भी धवन को टीम से बाहर करने की बात उठी तब उन्होंने बड़ी पारी खेलकर आलोचकों का मुंह बंद किया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले वनडे में भी उन्होंने टीम की तरफ से सर्वाधिक रन बनाए। धवन ने कहा, ‘ऐसी बातें (टीम से बाहर करने की) हमेशा होती रहती हैं और मैं इनका आदी हूं। मैं केवल इतना जानता हूं कि मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है तथा यह सुनिश्चित करना है कि मेरी तैयारियां और प्रक्रिया अच्छी रहे। इसके बाद मैं बाकी चीजें भगवान पर छोड़ देता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं अपने अनुभव और आत्मविश्वास के कारण जानता था कि मैं अच्छा प्रदर्शन करुंगा और मुझे खुशी है कि मैंने आज अच्छी पारी खेली। मैं जब तक क्रिकेट खेल रहा हूं मुझे स्वस्थ और फिट रहना होगा और लगातार रन बनाने होंगे।’

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...