1. हिन्दी समाचार
  2. gujrat
  3. “गुजरात फर्स्ट” चैनल को लेकर के गुजरात मिडिया में काफी चर्चा हो रही है, जानें क्या है पूरा मामला

“गुजरात फर्स्ट” चैनल को लेकर के गुजरात मिडिया में काफी चर्चा हो रही है, जानें क्या है पूरा मामला

गुजरात के मिडिया इन्डस्ट्री में बीते एक माह से "गुजरात फर्स्ट" को लेकर बहूत चर्चा हो रही। हाल ही मे शुरु हुआ नया चैनल में जिस तरह के हंगामे हुए उसको लेकर मीडिया जगत में "गुजरात फर्स्ट" चर्चा का विषय बना हुआ है।

By आकृति जायसवाल 
Updated Date

गुजरात: मिडिया इंडस्ट्री में बीते एक माह से “गुजरात फर्स्ट” को लेकर बहुत चर्चा हो रही है। हाल ही में शुरु हुआ यह नया चैनल में जिस तरह के हंगामे हुए उसको लेकर मिडिया जगत में बहुत गहरा चर्चा का माहौल बना हुआ  है। सिद्धि मिडिया प्राइवेट लिमिटेड- अहमदाबाद द्वारा शुरू किया गया  यह चैनल बड़ी धूमधाम से मैदान में आया था लेकिन उसके मालिकों द्वारा किए गए अव्यावसायिक बर्ताव के कारण जो धटनाऐं धटी और एडिटर से लेकर कई स्टाफ कर्मियों के इस्तीफ़े की धटना न सिर्फ मिडिया जगत में ही नहीं सोशल मिडिया में भी बहुत वायरल हुई। इन सब को लेकर के इस नया चैनल की चर्चा गुजरात मे होने लगी है। एक तरफ गुजरात में चुनाव के वक्त दुसरी चैनल्स परफॉर्मेंस देने के लिए मशक्कत कर रहे थे। उसी वक्त गुजरात फर्स्ट की अंदर की बाते सामने आते ही मीडिया जगत में गुजरात में फर्स्ट चैनल चर्चा का विषय बन गया।

गुजरात के सुप्रसिद्ध पत्रकार Deepak Rajani को जिम्मेदारी सौंपी गई थी

अहमदाबाद में गोदरेज गार्डन सिटी के निर्माण कर्ता बिल्डर मुकेशभाई पटेल द्वारा गुजरात फर्स्ट चैनल को लॉन्च किया गया था। इस चैनल के एडिटर एवं सीईओ के रूप में राज्य के सुप्रसिद्ध पत्रकार Deepak Rajani को जिम्मेदारी सौंपी गई थी। Deepak Rajani इससे पहले चार चैनलों में सफलतापूर्वक काम कर चुके थे। इसलिए गुजरात फर्स्ट चैनल के मालिको ने लॉन्चिंग की जिम्मेदारी दीपक रजनी को सौंपी। गुजरात में कुछ गिने-चुने पत्रकार हैं जो न्युज कन्टेन्ट, बिजनेस और डिस्ट्रीब्यूटशन एक साथ सम्भाल ते है। उनमें Deepak Rajani है। 37 सालों से पत्रकारिता के साथ जुड़े हुए Deepak Rajani ने इससे पहले Zee-24 कलाक का लॉन्च किया था। गुजरात फर्स्ट में तो Deepak Rajani ने ऐसा कमाल कर दिखाया कि उन्होने अपनी टीम के साथ दिन रात देखे बगैर काम किया और परिणाम यह आया कि दो माह के अंदर ही चैनल ऑन एयर हो गया था। दिसम्बर में चैनल की नींव डाली और 28 फरवरी को चैनल ऑफिसयली लॉन्च हुआ । शायद भारत के मीडिया जगत के इतिहास में यह प्रथम न्यूज़ चैनल होगा। Deepak Rajani का नाम मिडिया जगत में ऐसे लिया जाता है कि वे जहां जाते है वह कंपनी को चोटी पर ले जाते है। इस से पहले वे छह कंपनीओं में काम कर चुके है। वे सभी कंपनिया परफॉर्मेंस के द्वारा बहुत तेज़ी से आगे बढ़  रही है।

बंसी राजपूत ने Regional News India(Rni News) के ऑफिस में फोन कर के इस बात की जानकारी दी। बंसी राजपूत ने Facebook Live के जरिये अपनी बात गुराज की जनता के सामने रखी थी।

कम समय में यह चैनल घर-घर में पहुंच गया

ऐसी ही अपेक्षाओं के साथ उनको गुजरात फर्स्ट में लाया गया था। गुजरात में एक दो चैनल बंद हो जाने के कारण स्टाफ की नियुक्ति भी एक चुनौती थी। फिर भी परिणामलक्षी कार्यशैली के लिए जाने जाते Deepak Rajani के नाम को ध्यान में रखकर अन्य चैनल्स के जाने माने चेहरे भी गुजरात फर्स्ट से जुडे गए । 28 फ़रवरी को लॉन्च हुए इस चैनल ने चार माह के अंदर गुजरात के घर-घर में अपनी जगह बना ली। लेकिन जुलाई माह में इस चैनल में उथल पुथल होने लगी। Deepak Rajani को अचानक ही इस्तीफा देना पढ़ा। यह खबर गुजरात फर्स्ट के परिवार के लिए बहुत ही चौंका देने वाली थी। जिस व्यक्ति ने दिन रात देखे बगैर चैनल को बनाया हो उस व्यक्ति का चैनल छोड़ना चर्चा का विषय था?

इस सवाल का उत्तर स्टाफ को नहीं मिल रहा था। गुजरात फर्स्ट की सारी टीम उसका कैप्टन इस्तीफा दे इसके खिलाफ थी। लेकिन Deepak  Rajani अपने फ़ैसले पर कायम थे।दुखी दिल से गुजरात फर्स्ट के स्टाफ ने विदाई दी ।  Deepak Rajani ने संस्था छोड़ी और संस्था का दुसरे नये एडिटर के हाथ में जाना तो स्वाभाविक था, मगर बाद में जो धटनाऐं घटी वो चौंका देने वाली थी। Deepak Rajani  के पक्ष में बोलने वाले स्टाफ का एक के बाद एक इस्तीफा ले लिया गया। कोई भी इंडस्ट्री में या मिडिया कंपनीओं में इस्तीफा देने के लिए नोटिस पीरियड दिया जाता है। वही बंसी राजपूत ने बताया की नोटिस पीरियड का टीम नही दिया गया।  इस्तीफ़ा ले लेने के बाद एक माह का जो वेतन देने का प्रावधान है उसका भी उल्लंघन किया। ऐसे बर्ताव से दुखी कुछ कर्मी इस्तीफ़े दे कर चले गए।

घटनाक्रम को उजागर करने के लिए कर्मी खुद मैदान में उतरे

एक और से  रातों-रात कर्मियों की छुट्टी से चर्चा विषय बन गया।  बंसी राजपूत की भी अचानक छुट्टी कर दी। बंसी राजपूत ने चैनल से निकलते ही फेसबुक पर लाइव कर के चैनल मालिको को नीति का खुलासा कर दिया। बंसी राजपूत ने तो फेसबुक लाइव में उसे धमकी मिल रही है और उससे अघटित मांग किये जाने का भी आरोप लगा दिए। बात इसी से न रुकते हुए, गुजरात फर्स्ट में बहुत ही सुंदर काम करने वाली दुसरी महिला नुपुर दाणी की भी छुट्टी कर दी। गुजरात फर्स्ट में हुए घटनाक्रम को उजागर करने के लिए कर्मी खुद मैदान में उतरे और अपनी बात जनता के सामने रखी।

बंसी राजपूत के फेसबुक live के बाद नुपुर दाणी ने भी अपने फेसबुक पेज पर गुजरात फर्स्ट में चल रहे घटनाक्रम को लोगों तक पहुंचाया।

कई कर्मी इस्तीफ़ा दे कर दुसरी चैनल्स से जुड गये

बीते दिनो मे गुजरात फर्स्ट मे जो घमासान हुआ इसके कारण कई कर्मी इस्तीफ़ा दे कर दुसरी चैनल्स से जुड गये। गुजरात में अबतक शुरु हुई चैनल्स में जो गुजरात फर्स्ट में हुआ वो शायद पहली बार हुआ है। चैनल के ही स्टाफ मेम्बर चैनल के खिलाफ बाते बताए वो भी शायद पहली बार हुआ है। जिसके चलते गुजरात फर्स्ट को शुरुआत के दौर में बडा झटका लगा है। गुजरात मीडिया जगत मे चर्चा है कि गुजरात फर्स्ट बहुत ही लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के साथ लॉन्च हुआ था।

Deepak Rajani का इस्तीफा एक रहस्य है?

– ये आर्टिकल गुजरात फर्स्ट के स्टाफ के द्वारा दी गई जानकारी आदर पर लिखा गया है

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...