Home उत्तर प्रदेश पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए 12 हजार करोड़ का कर्ज लेगी योगी सरकार

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए 12 हजार करोड़ का कर्ज लेगी योगी सरकार

0 second read
0
105

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अपने ड्रीम प्रोजेक्ट पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण के लिए बैंकों से 12 हजार करोड़ रुपये कर्ज लेगी। इसके लिए बकायदा आज योगी सरकार ने कैबिनेट बैठक में प्रस्ताव पास भी कर दिया। बता दें कि इस परियोजना के पूरा करने के लिए सरकार ने 36 माह का समय निर्धारित किया है लेकिन, सरकार का दावा है कि इस परियोजना को 24 से 26 माह में पूरा कर लिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि इस परियोजना के लिए वित्तीय संसाधन की उपलब्धता होने से इसे गति मिलेगी और परियोजना से होने वाले रोजगार सृजन संबंधी कार्यों में भी तेजी आएगी। वहीं प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने परियोजना की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि बैंकों से 12 हजार करोड़ का ऋण परियोजना के सिविल कार्यों के लिए यूपीडा द्वारा लिया जाना प्रस्तावित था जिसे मंजूरी मिल गई है। सरकार ने सात हजार 800 करोड़ रुपये की स्वीकृति भी दे दी है। पंजाब नेशनल बैंक लीड बैंक होगा। कर्ज लेने की जो शर्तें हैं और जो गारंटी देनी है, उस पर भी कैबिनेट ने मुहर लगा दी है। यह कर्ज 15 वर्ष के लिए लिया जा रहा है जिसे 12 वर्षों में 48 किस्तों में चुकाना है।

राज्य सरकार से शासकीय गारंटी एव यूपीडा द्वारा ब्याज चुका न पाने की स्थिति में राज्य सरकार द्वारा उस राशि को चुकाने की सहमति दे दी गई है। टोल राशि के जरिये यूपीडा द्वारा कर्ज चुकाने की स्थिति में आने तक राज्य सरकार लगभग तीन वर्ष तक त्रैमासिक आधार पर ब्याज राशि अदा करेगी। परियोजना के सिविल निर्माण कार्यों के लिए कर्ज काम शुरू होने के तीन वर्ष के अंदर प्राप्त किया जाएगा और जिसकी समय सारिणी कर्ज की शर्तों के अधीन रहेगी। इसका ब्याज आरबीआइ की दर पर ही तय किया गया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए करीब 93 फीसद भूमि अधिग्रहीत हो गई है और हर 50 मीटर पर पिलर भी लगा दिए गए

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.