1. हिन्दी समाचार
  2. योग और स्वास्थ्य
  3. लहसुन वायरस से लड़ने में करता है मदद,आईआईटी के वैज्ञानिकों ने जुटाये सबूत

लहसुन वायरस से लड़ने में करता है मदद,आईआईटी के वैज्ञानिकों ने जुटाये सबूत

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

भोजन में लहसुन का प्रयोग हमारी परंपरा का हिस्सा रहा है। माना जाता है कि लहसुन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगर है और चिकित्सक कोरोना के संक्रमण काल में इसके सेवन की सलाह भी दे रहे हैं। अब भारतीय पेट्रोलियम संस्थान के विज्ञानियों ने साबित कर दिया है कि भोजन में लहसुन का प्रयोग शरीर को वायरस से लड़ने में मदद करता है। विज्ञानियों ने पाया कि लहसुन के ‘एलाइल मिथाइल सल्फाइड’ मॉलिक्यूल वायरस को रोकने का काम करते हैं।

आइआइपी के वरिष्ठ विज्ञानी डॉ. अनिल सिन्हा के मुताबिक, लहसुन में एलिसिन नामक तत्व होता है। जब हम इसका सेवन करते हैं तो यह टूटकर एलाइल मिथाइल सल्फाइड केमिकल बन जाता है। यही एएमएस वायरस को रोकने का काम करने लगते हैं। लहसुन की एक गांठ में करोड़ों एलाइल मिथाइल सल्फाइड मॉलिक्यूल पाए जाते हैं, जो जल्द ही वायरस की रफ्तार थामने लगते हैं।

डॉ. अनिल सिन्हा ने बताया कि वायरस के ऊपर फॉस्फोलिपिड नाम की फैटी लेयर होती है, जो इसके लिए सुरक्षा कवच का काम करती है। एलाइल मिथाइल सल्फाइड व फॉस्फोलिपिड केमिकल का आपस में रिएक्शन कराया गया। इसके लिए मॉलिक्युलर मॉडलिंग का सहारा लिया गया। पाया गया कि यह फॉस्फोलिपिड के साथ रिएक्शन करने में प्रभावशाली हैं। यानी यह वायरस के रक्षा कवच को भेदने में सक्षम है।

वरिष्ठ विज्ञानी डॉ. सिन्हा के मुताबिक, छह ग्राम लहसुन में करीब 68.3 करोड़ एलाइल मिथाइल सल्फाइड मॉलिक्यूल होते हैं। इतनी संख्या वायरस से लड़ने के लिए काफी मानी जा सकती है। लिहाजा, कोरोनाकाल में लहसुन का नियमित प्रयोग करना जरूरी है। तभी हमारा शरीर प्राकृतिक रूप से वायरस से लड़ने में सक्षम रहेगा।

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...