1. हिन्दी समाचार
  2. योग और स्वास्थ्य
  3. विटामिन सी की कमी से होने वाले 5 रोग

विटामिन सी की कमी से होने वाले 5 रोग

विटामिन सी हमारे शरीर के स्वस्थ कामकाज के लिए सबसे आवश्यक पोषक तत्वों में से एक है। शरीर में कोलेजन के उचित निर्माण के लिए जिम्मेदार होने के अलावा, यह हड्डियों के विकास, रक्त वाहिकाओं के स्वास्थ्य और घाव भरने के लिए भी महत्वपूर्ण है।

By Prity Singh 
Updated Date

विटामिन सी की कमी से हो सकती है कई बीमारियां

जब स्वस्थ शरीर को बनाए रखने की बात आती है, तो हमारे पोषक तत्व और खनिज महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। हमारा आहार संतुलित होना चाहिए और पौष्टिक होना चाहिए। विटामिन सी हमारे शरीर के स्वस्थ कामकाज के लिए सबसे आवश्यक पोषक तत्वों में से एक है। शरीर में कोलेजन के उचित निर्माण के लिए जिम्मेदार होने के अलावा, यह हड्डियों के विकास, रक्त वाहिकाओं के स्वास्थ्य और घाव भरने के लिए भी महत्वपूर्ण है। यही कारण है कि विटामिन सी की कमी से कई बीमारियां हो सकती हैं, जो आगे चलकर जटिलताएं पैदा कर सकती हैं।

स्कर्वी विटामिन सी की कमी से जुड़ी सबसे प्रमुख बीमारी है। यह आहार में विटामिन सी की भारी कमी को दर्शाता है, जिससे चोट लगना, मसूड़ों से खून आना, कमजोरी, थकान, दाने और बहुत कुछ होता है।

प्रारंभिक चेतावनी के संकेतों में अस्पष्टीकृत थकान, भूख कम लगना, चिड़चिड़ापन और जोड़ों का दर्द शामिल हो सकते हैं। जब अनुपचारित छोड़ दिया जाता है, तो यह एनीमिया, मसूड़े की सूजन, त्वचा के रक्तस्राव आदि का कारण बन सकता है।

हाइपरथायरायडिज्म

हाइपरथायरायडिज्म तब होता है जब थायरॉयड ग्रंथि अतिरिक्त हार्मोन स्रावित करती है। अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों के साथ विटामिन सी आपके थायराइड स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। लंबे समय तक विटामिन सी की कमी से थायरॉयड ग्रंथियों से हार्मोन का अधिक स्राव हो सकता है, जिससे हाइपरथायरायडिज्म हो सकता है, जिससे अनजाने में वजन कम होना, दिल की धड़कन, भूख में वृद्धि, घबराहट, कंपकंपी, महिलाओं में मासिक धर्म के पैटर्न में बदलाव और बहुत कुछ जैसे लक्षण हो सकते हैं।

खून की कमी

अपने आहार में विटामिन सी को शामिल करना बहुत जरूरी है। अन्य लाभों के अलावा, विटामिन सी लोहे के अवशोषण में मदद करता है, जो एनीमिया जैसी बीमारियों को रोकने के लिए महत्वपूर्ण है, जो आपके शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कम संख्या या गुणवत्ता का परिणाम है। लक्षणों में थकान, पीलापन, सांस लेने में तकलीफ, चक्कर आना, वजन कम होना और बहुत कुछ शामिल हो सकते हैं।

मसूड़ों से खून बहना

जब आपके दंत स्वास्थ्य की बात आती है, तो विटामिन सी अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह आपके दांतों को तो मजबूत करता ही है साथ ही मसूढ़ों की भी रक्षा करता है। इसलिए, विटामिन सी की कमी से मसूड़ों से खून आना और मसूड़ों की बीमारी हो सकती है।

चर्म रोग

त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने में विटामिन सी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और कोलेजन उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, एक प्रोटीन जो त्वचा, बाल, जोड़ों आदि जैसे संयोजी ऊतकों में प्रचुर मात्रा में होता है, स्वस्थ त्वचा के लिए महत्वपूर्ण होता है। उस ने कहा, विटामिन सी की कमी, जिसे स्कर्वी भी कहा जाता है, त्वचा के घावों का कारण बन सकती है। प्रारंभिक लक्षणों में छोटे चमड़े के नीचे के रक्तस्राव के धब्बे शामिल हैं।

विटामिन सी की कमी का इलाज कैसे करें

अपने आहार में विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करना इस स्थिति का इलाज करने का सबसे अच्छा तरीका है। खट्टे फल, विटामिन सी से भरपूर सब्जियों का अधिक सेवन करें। धूम्रपान से बचना चाहिए क्योंकि अध्ययनों ने साबित किया है कि धूम्रपान करने वालों ने अपने शरीर में विटामिन सी की मात्रा कम कर दी है। विटामिन सी की खुराक लेने पर भी विचार किया जा सकता है, लेकिन कोई भी लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...