Home उत्तराखंड बीमा के 60 लाख रुपए हड़पने के लिए की थी पत्नी की हत्या

बीमा के 60 लाख रुपए हड़पने के लिए की थी पत्नी की हत्या

0 second read
0
100

देहरादून। देहरादून के टर्नर रोड क्षेत्र में एक साल पहले हुई विवाहिता की हत्या से पुलिस ने पर्दा उठा दिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी पति ने 60 लाख का बीमा क्लेम पाने के लिए अपने दोस्त और उसके चार परिचितों के जरिये योजनाबद्ध तरीके अपनी पत्नी की हत्या की थी यही नहीं, स्वाभाविक मौत बताकर बगैर पोस्टमार्टम के अंतिम संस्कार भी कर दिया। हालांकि, शक के दायरे में आने की वजह से उसने पत्नी की मौत के कुछ दिन बाद ही बीमा क्लेम संबंधी आवेदन वापस ले लिया था। लेकिन, इससे पहले पहले वह अपने दोस्त के साथ बीमे के रूप में मिलने वाली राशि में से दस लाख रुपये उसे देने का सौदा कर चुका था। गलत दवाएं देकर पत्नी को मौत के घाट उतारने के लिए उसने चार लाख की सुपारी दी थी।

पुलिस ने घटनाक्रम के सिलसिले में मृतका के पति, उसके दोस्त, सहारनपुर निवासी एक पशु चिकित्सक और मेरठ के एक नर्सिंग होम में कार्य करने वाले दो युवकों समेत छह आरोपितों को गिरफ्तार किया है। मृतका और उसका पति पहले से तलाकशुदा थे, इसके बाद उन्होंने प्रेम विवाह किया था। एसपी सिटी प्रदीप राय ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि टर्नर रोड में किराये पर रहने वाले आकाश ठक्कर ने वर्ष 2014 में विधि से प्रेम विवाह किया था। आकाश यहां गिफ्ट सेंटर चलाता था, जबकि विधि एरोबिक सिखाती थी। शादी के दो साल बाद उनमें मतभेद पैदा हो गए और जनवरी 2017 दोनों का तलाक हो गया। लेकिन, बेटे की वजह से दोनों एक ही मकान में साथ रहने लगे। इस बीच, 23 जुलाई 2017 को विधि की मौत हो गई। आकाश ने पास पड़ोस के लोगों और रिश्तेदारों को विधि की मौत ब्रेस्ट कैंसर से होना बताया। मृतका की मां को बताए बगैर उसने शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया था।

पुलिस के अनुसार जांच में सामने आया कि विधि को अपने पूर्व पति से तलाक लेने के दौरान 15 लाख रुपये मिले थे। इमसें से नौ लाख रुपये आकाश ने रख लिए थे। विधि तलाक के बाद आकाश पर यह रकम लौटाने का दबाव बना रही थी। पुलिस के अनुसार पति-पत्नी के बीच अनबन का आकाश के दोस्त अखिल को सारी जानकारी थी। इस पर अखिल ने भरोसा दिलाया कि वह उसे विधि से छुटकारा दिला देगा। इसके लिए उसने उससे पैसों की मांग की। साथ ही विधि के नाम पर इंश्योरेंस पॉलिसी लेने की योजना बनवाई। ताकि विधि की मौत के बाद उसे स्वाभाविक दिखाकर मोटी रकम बीमा कंपनी से हासिल की जा सके।

एसपी सिटी ने बताया कि इस प्रकरण में मृतका के पति आकाश, उसके दोस्त अखिल के साथ ही पशु चिकित्सक अंकुर वालियान पुत्र सरदार सिंह निवासी ग्राम गगनोली थाना नागल सहारनपुर, अखिल पुत्र किशनलाल निवासी चामुंडा मन्दिर सहारनपुर, विक्की उर्फ विक्रांत पुत्र ऋषिपाल निवासी मजरी मेरठ ,कपिल उर्फ कुलदीप पुत्र बृजपाल निवासी ग्राम खनोदा मेरठ व राजेन्द्र पुत्र बलजीत निवासी जनता कॉलोनी मोदीपुरम मेरठ को गिरफ्तार किया गया है। इन सभी को अदालत में पेश किया गया, अदालत ने उन्हें जेल भेज दिया।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.