Home Breaking News मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक पर क्या बोले पीएम मोदी, शिवराज ने कहा संदेह नहीं होना चाहिए…

मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक पर क्या बोले पीएम मोदी, शिवराज ने कहा संदेह नहीं होना चाहिए…

36 second read
0
9
PM modi

नई दिल्ली : 16 जनवरी 2021 से पूरे भारत में कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने वाला है, इसके अंतर्गत पहले यह टीका स्वास्थकर्मी, कोरोना फ्रंट वर्कर और 50 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों को दी जानी है। इसे लेकर पीएम मोदी ने आज यानी 11 जनवरी को सभी राज्यों के मुख्मंत्रियों से बात की। पीएम मोदी ने कहा कि सबसे पहले फ्रंट लाइन वर्कर्स को कोरोना का वैक्सीन लगेगा। इसके बाद सफाई कर्मियों को टीका लगेगा। इसके बाद पुलिसकर्मियों, सुरक्षाकर्मियों, सुरक्षा बल के जवानों को कोरोना का वैक्सीनेशन होगा। दूसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर के लोगों और जो लोग संक्रमण के लिए ज्यादा संवेदनशील हैं, उन्हें टीका लगेगा।
उन्होने कहा कि ये हम सभी के लिए गौरव की बात है कि जिन दो वैक्सीन को इमरजेंसी यूज का ऑथराइजेशन दिया गया है वो दोनों ही मेड इन इंडिया हैं। भारत को टीकाकरण का जो अनुभव है, जो दूर-सुदूर क्षेत्रों तक पहुंचने की व्यवस्थाएं हैं वो कोरोना टीकाकरण में बहुत काम आने वाली हैं।
गौरतलब है कि चीन ने भी भारत में बनें वैक्सीन की भरपूर तारीफ की। चीन कम्युनिस्ट पार्टी (China Communist Party) के मुखपत्रन ग्लोबल टाइम्स (Global Times) में प्रकाशित एक लेख में चीनी विशेषज्ञों ने एक मत में ये कहा है कि भारत द्वारा बनाए गए कोरोना वैक्सीन चीनी टीकों के मुकाबले किसी भी स्तर पर कम नहीं है। विशेषज्ञों ने यह भी माना कि भारतीय टीके रिसर्च और प्रोडक्शन क्षमता में किसी भी स्तर पर कमतर नहीं हैं।
इसके साथ ही पीएम मोदी ने कोरोना वैक्सीन को लेकर उठने वाली अफवाहों को लेकर भी सतर्क रहने को कहा है। पीएम मोदी ने कहा कि इस तरह की अफवाहों पर लगाम लगाने की जिम्मेदारी राज्यों की है। कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर वैज्ञानिक समुदाय की सलाह के आधार पर हम काम करते रहेंगे, हम उसी दिशा में चले हैं।
बता दें कि पीएम मोदी ने ये बातें मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक में कहा। इस दौरान पीएम मोदी ने दूर-दूर सुदूर क्षेत्रों में टीकाकरण उपलब्ध कराने के साथ ही वैक्सीनेशन पर भी बात की। उन्होंने कहा कि दुनिया के 50 देशों में तीन-चार सप्ताह से वैक्सीनेशन का काम चल रहा है, लेकिन अब भी करीब-करीब 2.5 करोड़ वैक्सीन हो पाई है। अब भारत में हमे अगले कुछ महीनों में लगभग 30 करोड़ आबादी के टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करना है।
बैठक के बाद मध्य प्रदेश सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम 16 जनवरी से प्रदेश में कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरुआत कर रहे हैं। सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स, स्वास्थ्य से जुड़े लोग जिनकी संख्या 4,16,000 है उन्हें वैक्सीन लगाई जाएगी। बाद में पुलिस, सफाईक्रर्मी समेत अन्य फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगाई जाएगी।


इसके साथ ही सीएम शिवराज ने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों ने यह साबित कर दिया है कि टीका बिल्कुल सुरक्षित है। यह एंटीबॉडी और प्रतिरक्षा का निर्माण करेगा। किसी को संदेह नहीं होना चाहिए कि उन्हें टीका लगाया जाना चाहिए या नहीं। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटों में कोरोना के 16 हजार 311 नए मामले रिकॉर्ड दर्ज किये गये है, वहीं 161 लोगों ने अपनी जिंदगी की आखिरी लड़ाई हारी। अब जबकि यह वैक्सीन पूरे भारतीय बाजार में उपलब्ध होने वाला है, उससे ये कहना गलत नहीं होगा कि भारत बहुत जल्द कोरोना मुक्त देश बनेगा।

Load More In Breaking News
Comments are closed.