1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. जंगल में आग लगाने से रोका तो, डिप्टी रेंजर पर बेल्ट से किया वार, हुए गिरफ्तार

जंगल में आग लगाने से रोका तो, डिप्टी रेंजर पर बेल्ट से किया वार, हुए गिरफ्तार

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: नंदनी तोदी
पौड़ी: उत्तराखंड के जंगल बीते कई दिनों से आज से झुलस रहे हैं। वन संपदा जलकर राख हो चुकी है। इतना ही नहीं जंगल की आग घरों तक पहुंच चुकी है। और 4 लोगों को अपनी चपेट में ले चुकी है। इसी को लेकर कई जंगली जानवर और पशुओं की भी मौत हो चुकी है। और वन विभाग भी आग नजर बनाए रखे है। लेकिन लोग आग को लेकर नहीं मैं रहे हैं।

दरअसल, ये मामला है उत्तराखंड के श्रीनगर में जंगल में आग लगाते दो युवकों का। जिसे वन विभाग की टीम ने रेंज हाथो पकड़ लिया है। पकड़े जाने से पहले दो दोनों युवक स्थानों में आग लगा चुके थे। और जब बरंगे हाथों पकडे गए तो आरोपियों ने डिफ्टी रेंजर पर बेल्ट से हमला किया और वन बीट अधिकारी की वर्दी फाड़ दी।

दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों के पास से माचिस, बीड़ी का बंडल और लाइटर बरामद हुआ है। जिसके बाद वन विभाग की टीम दोनों को कोतवाली ले आई। जहां डिफ्टी रेंजर मंगल सिंह ने दोनों युवकों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, जंगल में आग लगाने, मारपीट और गाली-गलौच की शिकायत दर्ज कराई।

कोतवाल हरिओम राज चौहान ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ आईपाीसी और वन अधिनियम में केस दर्ज करते हुए कोर्ट में पेश किया गया है। दोनों आरोपितों ने अपने नाम सरणा निवासी रविद्र सिंह खत्री और हरेंद्र सिंह भंडारी बताए।

वन क्षेत्राधिकारी नागदेव रेंज अनिल भट्ट ने बताया कि सरणा निवासी रविंद्र खत्री और हरेंद्र भंडारी ने पहले विद्या मंदिर खिर्सू के समीप आग लगाई। इसके बाद उन्होंने ग्वाड़ सिविल वन क्षेत्र में आग लगाई। डिफ्टी रेंजर मंगल सिंह और वन बीट अधिकारी कलम सिंह भंडारी ने किसी तरह कड़ी मेहनत के बाद आग पर काबू पाया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...