1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड़ सरकार ने लिया बड़ा फैसला, अब बदल जाएगी प्रदेश की तस्वीर…

उत्तराखंड़ सरकार ने लिया बड़ा फैसला, अब बदल जाएगी प्रदेश की तस्वीर…

उत्तराखंड मध्य यूरोप के एक देश स्लोवेनिया से प्रेरणा लेते हुए उत्तराखंड पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट इलाके में अपना 'गुफा पर्यटन सर्किट' शुरू करने के लिए तैयार है, जहां सितंबर में नौ भूमिगत गुफाओं का एक नेटवर्क खोजा गया था।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: अनुष्का सिंह

देहरादून: उत्तराखंड हमेशा से ही पयर्टको का काफी पसंदिता रहा है। लेकिन और भी ज़्यादा पयर्टको को अपनी ओर आकर्षित करने के लिये एक नई तरकीब और तरीका खोज निकाला है।

बता दे कि मध्य यूरोप के एक देश स्लोवेनिया से प्रेरणा लेते हुए उत्तराखंड पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट इलाके में अपना ‘गुफा पर्यटन सर्किट’ शुरू करने के लिए तैयार है, जहां सितंबर में नौ भूमिगत गुफाओं का एक नेटवर्क खोजा गया था। उत्तराखंड अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र (यूएसएसी) के वैज्ञानिकों ने हाल ही में मेलचौरा, गुप्त गंगा, सैलीस्वर, वृहद तुंग, मुक्तेश्वर और दानेश्वर क्षेत्रों में स्थित गुफाओं का सर्वेक्षण किया।

एक अखबार से बात करते हुए, यूएसएसी के र्निदेशक एमपीएस बिष्ट ने कहा कि गुफाएं “हजारों साल पुरानी होने की संभावना है, हालांकि नवंबर में क्षेत्र की जियोटैगिंग करने के बाद सटीक विवरण सामने आएंगे।”

उन्होंने कहा कि “गुफाएं बहु-स्तरित हैं और 50 मीटर जितनी ऊंची हैं, जिनमें कई कमरे जैसे ब्लॉक हैं।” “ये प्राकृतिक विरासत स्थल हैं, जिन्हें हम संरक्षित करने जा रहे हैं और अंततः इन्हें पर्यटकों के लिए खोल दिया जाएगा। केंद्र सरकार पहले ही मंजूरी दे चुकी है। स्लोवेनिया गुफा पर्यटन के माध्यम से लगभग 30% राजस्व अर्जित करता है। हम भी इस तरह से अच्छी पर्यटन आय अर्जित कर सकते हैं।

गुफाओं को एक कार्स्ट परिदृश्य के हिस्से के रूप में टैग किया गया है, जो एक ऐसा परिदृश्य है जहां आधारशिला के विघटन से सिंकहोल, डूबती धाराएं, गुफाएं, झरने और ऐसी अन्य विशेषताएं बनती हैं।

पिथौरागढ़ पर्यटन अधिकारी अमित कुमार लोहानी ने कहा, ” कार्स्ट लैंडस्केप को ग्रह के सबसे विविध, महत्वपूर्ण और दुर्लभ पारिस्थितिक तंत्रों में से एक माना जाता है जो जमीन के ऊपर और नीचे पारिस्थितिक विविधता का समर्थन करता है।”

संयोग से, पिथौरागढ़ में पाताल भुवनेश्वर भी है, जो भगवान शिव को समर्पित एक भूमिगत गुफा मंदिर है, जो पर्यटकों के साथ-साथ तीर्थयात्रियों को भी आकर्षित करता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...