1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. अल्मोड़ा-भवाली हाइवे स्थित कैची साई कुटीर में दर्दनाक हादसा, मलवे में दबने से दो बच्चे की मौत

अल्मोड़ा-भवाली हाइवे स्थित कैची साई कुटीर में दर्दनाक हादसा, मलवे में दबने से दो बच्चे की मौत

अल्मोड़ा-भवाली हाइवे स्थित कैंची साई कुटीर में एक दर्दनाक हादसा हुआ, जिसमें घर में मलबे में दबने से एक परिवार के दो बच्चों की मौत हो गई। चीख पुकार की आवाज सुनकर स्थानीय लोग मौके पर पहुँचे। बच्चों के मलबे में दबने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट:पायल जोशी

नई दिल्ली : अल्मोड़ा-भवाली हाइवे स्थित कैंची साई कुटीर में एक दर्दनाक हादसा हुआ, जिसमें घर में मलबे में दबने से एक परिवार के दो बच्चों की मौत हो गई। चीख पुकार की आवाज सुनकर स्थानीय लोग मौके पर पहुँचे। बच्चों के मलबे में दबने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

आपकों बता दें कि कैची निवासी सुरेश चौहान के घर में बीती रात मलबा घुसने से उनके एक लड़का और लड़की दोनो बच्चों की मौत हो गई। चीख पुकार सुन स्थानीय लोग मौके पर पहुँचे लेकिन मलबा अधिक होने वजह से कुछ समझ नही पाए। उधर के ग्राम प्रधान पंकज निगलटिया ने बताया कि बारिश के कारण घर मे मलबा घुस गया था, जिसकी वजह से परिवार के तीन लोग मलबे में दब गए। बता दें कि लोगो की मदद से सभी को निकालने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि उनके दो बच्चो के साथ उनकी एक रिश्तेदार भी मलबे में दबी थी। वहां कि सामाजिक कार्यकर्ता भुवन तिवारी ने बताया कि दोपहर तक स्थानीय लोगो की मदद से दोनों बच्चों के शव बाहर निकाले गए।

आपको बता दें कि इस चीज़ को देखते हुऐ एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी के निर्देशन में जिले के तमाम थानों में आपदा प्रबंधन टी, एसटीआरएफ को उपकरणों के साथ आपदा ग्रस्त क्षेत्रों में फंसे यात्रियो व आम लोगों को सुरक्षित निकालने का रेस्क्यू चलाया गया। बता दे कि जिले के विभिन्न स्थानों में आपदा के चलते पुलिस ने अब तक विभिन्न क्षेत्रों में फंसे 915 लोगों, यात्रियों, वाहनों का रेस्क्यू कर के सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है गया है, और उनके खाने पीने की भी उचित व्यवस्था की गई है। वहीं दुसरी और एसएसपी नैनीताल भी मौका मुआयना कर रही हैं।

वहीं दूसरी और उद्यान विभाग कर्मी के बसंत बल्लभ डालाकोटी और उनके पड़ोस में रहने वाले शम्भू दत्त की कल रात मलबे में दबने से मृत्यु हो गई। बता दें कि बसंत बल्लभ डालाकोटी घर में अकेले रहते थे, और परिवार के अन्य सदस्य रानीखेत रहते हैं। कल रात भारी बारिश के बाद अचानक मलवा आने से बसंत बल्लभ डालाकोटी का मकान मलबे की चपेट मे आ गए, और उसी और पड़ोस में रहने वाले शम्भू दत्त डालाकटी का मकान भी मलबे में ध्वस्त हो गया।  शम्भू दत्त डालाकोटी अपनी पत्नी के साथ रहते थे। जिन के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है। बता दें कि स्थानीय लोगों और पुलिस द्वारा मलबा हटाकर अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...