1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. देहारादून में दो लोगों के खाते से उड़ाए तीन लाख रुपये, जाने क्या है पूरा मामला।

देहारादून में दो लोगों के खाते से उड़ाए तीन लाख रुपये, जाने क्या है पूरा मामला।

पिछले कुछ दिनो से देश में साइबर Crime के मामले तेज़ी से बड़ रहें हैं। बता दें कि देश की राजधानी दिल्‍ली में एनआरआई के साथ एक करोड़ 35 लाख रुपये की साइबर ठगी का मामला सामने आया है। एक ऐसा ही ऐक मामला राजधानी देहरादून से आया है, बता दें की देहारादून में साइबर ठगी के मामले तेज़ी से बड़ रहें है, जिसके चलते इस बार ठगों ने महिला समेत दो व्यक्तियों से दो लाख रुपये की ठगी कर ली है, फिलहाल, वसंत विहार थाना पुलिस ने दोनों मामलों में मुकदमा दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट:पायल जोशी
देहरादून: पिछले कुछ दिनो से देश में साइबर Crime के मामले तेज़ी से बड़ रहें हैं। बता दें कि देश की राजधानी दिल्‍ली में एनआरआई के साथ एक करोड़ 35 लाख रुपये की साइबर ठगी का मामला सामने आया है। एक ऐसा ही ऐक मामला राजधानी देहरादून से आया है, बता दें की देहारादून में साइबर ठगी के मामले तेज़ी से बड़ रहें है, जिसके चलते इस बार ठगों ने महिला समेत दो व्यक्तियों से दो लाख रुपये की ठगी कर ली है, फिलहाल, वसंत विहार थाना पुलिस ने दोनों मामलों में मुकदमा दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।
बता दें कि पहला मामला मनोज कुमार का है जो ऋषि विहार निकट इंद्रानगर मे रहता है, उसने पुलिस को बताया कि वह शहर के एक पिज्जा हट में नौकरी करता है, और 18 अक्टूबर को वह आनलाइन खरीदारी करने जा रहा था, लेकिन उसके डेविट कार्ड से पेमेंट नहीं हुई। जिसके चलते उन्होने इटरनेट मीडिया पर इंडसंड बैंक के कस्टमर केयर का नंबर सर्च कर के निकाला और जब उस नंबर पर उसने फोन किया तो दूसरी तरफ से फोन रिसीव नहीं हुआ।
कुछ देर बाद दूसरे फोन नबंर से काल आई, और व्यक्ति ने खुद को इंडसंड बैंक का कस्टमर केयर अधिकारी बताया और उनकी समस्या का समाधान करने करने के लिए उनके फोन नंबर पर एक लिंक भेजा, और उस लिंक पर क्लिक करने के बाद मनोज के नंबर पर दो ओटीपी आए, और ओटीपी नंबर उस व्यक्ति को बताते ही पीडि़त के खाते से ढाई लाख रुपये निकल गए।
अब आपको बता दें कि साइबर ठगी का दूसरा मामला मीनू धीमान का है, जो साईं लोक कालोनी में रहती है, उसने पुलिस को बताया उन्होंने पुराना सोफा सेट बेचने के लिए ओएलएक्स पर विज्ञापन डाला था, और उन्होने सोफा सेट की कीमत उन्होंने 17 हजार रुपये रखी थी। बता दें कि 18 अक्टूबर को उन्हें किसी का फोन आया और व्यक्ति ने सोफा सेट खरीदने की बात कही, जब व्यक्ति ने आनलाइन ट्रांजेक्शन करने के लिए उनका फोन-पे नंबर मांगा तो मीनू धीमान ने अपने पति का फोन नंबर दे दिया। इसी दौरान उसने पहले एक लिंक भेजा और उस पर क्लिक करने को कहा और जैसे ही लिंक पर क्लिक किया तो उनके खाते से 50 हजार की निकासी हो गई।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...