1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड महोत्सव के रूप में मनाया जाएगा राज्य स्थापना दिवस

उत्तराखंड महोत्सव के रूप में मनाया जाएगा राज्य स्थापना दिवस

भारत के 27वें राज्य के स्थापना के उपलक्ष्य में हर साल 9 नवंबर को उत्ताराखंड स्थापना दिवस मनाया जाता है। उत्ताराखंड को पहले उत्तरांचल के नाम से जाना जाता था, लेकिन 2007 में इसका नाम बदलकर उत्तराखंड कर दिया गया। उत्तराखंड़ राज्य की राजधानी देहरादून है। इस साल यह 21वां उत्तराखंड स्थापना दिवस होगा।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: अनुष्का सिंह

देहरादून:उत्तराखंड स्थापना दिवस पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड वासियो को हार्दिक बधाई देते हुऐ कहा कि “आप सभी को उत्तराखण्ड राज्य स्थापना दिवस की हार्दिकशु भकामनाएँ। आज के दिन युवा उत्तराखंड अपनी स्थापना के 21 वर्ष पूर्ण कर चुका है और हम निरंतर प्रगति के पथ पर बढ़ते हुए नित नए लक्ष्यों को प्राप्त कर रहे हैं। इस पावन अवसर पर आइए प्रण लें कि हम देवभूमि उत्तराखण्ड को राज्य आंदोलनकारियों के सपनों का राज्य बनाने के लिए अपना सम्पूर्ण योगदान देकर उत्तराखंड को भारत का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाएंगे।”

आपको बता दे कि भारत के 27वें राज्य के स्थापना के उपलक्ष्य में हर साल 9 नवंबर को उत्तराखंड स्थापना दिवस मनाया जाता है। उत्तराखंड की स्थापना 2000 में उत्तर प्रदेश के उत्तर-पश्चिमी भाग से कई जिलों और हिमालय पर्वत श्रृंखला के एक हिस्से को मिलाकर किया गया था। उत्तराखंड को पहले उत्तरांचल के नाम से जाना जाता था, लेकिन 2007 में इसका नाम बदलकर उत्तराखंड कर दिया गया। उत्तराखंड़ राज्य की राजधानी देहरादून है। इस साल यह 21वां उत्तराखंड स्थापना दिवस होगा।

साथ ही  उत्तराखंड़ राज्य के 21वें स्थापना दिवस पर उत्तर प्रदेश के यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने इस खास मौके पर उत्तराखंड वासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं भेजी हैं।
आपको बता दे कि उत्तराखंड़, ‘देवताओं की भूमि’ के रूप में जाना जाता है, राज्य में ग्लेशियरों, नदियों, घने जंगलों और बर्फ से ढकी पर्वत चोटियों सहित प्राकृति के सौदर्य का भंडार है। उत्तराखंड मे चार सबसे पवित्र और श्रद्धेय हिंदू मंदिर भी हैं जिन्हें उत्तराखंड के चार धाम के रूप में भी जाना जाता है – बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमनोत्री।
बता दे कि उत्तराखंड नाम संस्कृत बोली से लिया गया है जिसका शाब्दिक अर्थ है ‘उत्तरी शहर’। 9 नवंबर, 2000 को उत्तराखंड के उत्तरांचल के रूप में गठित होने से पहले कई वर्षों तक संघर्ष चला। इसका स्थापन उत्तर प्रदेश की तब की सरकार द्वारा उत्तराखंड क्रांति दल के लंबे संघर्ष के बाद किया गया था, क्रांती दल ने अपना मुख्य मुद्दा क्षेत्रों के लोगों के सामने आने वाली चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित कर अलग राज्य की मांग की थी।
बाद में, 1 जनवरी, 2007 को इसका नाम बदलकर उत्तराखंड कर दिया गया। यह राज्य संस्कृति, जातीयता और धर्म का मिश्रण है और भारत के सबसे अधिक देखे जाने वाले पर्यटन स्थलों में से एक है। उत्तराखंड के बोर्डर पर तिब्बत, नेपाल, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और उत्तर प्रदेश शामिल हैं।
आपको बता दे कि राज्य सरकार द्वारा स्थापना दिवस मनाने के लिए पुलिस परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रमों सहित कई समारोह आयोजित किए जाते हैं। मुख्यमंत्री शहीद स्मारक, देहरादून में राज्य आंदोलन के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद लोगों के लिए कई लाभकारी नीतियों और धन का उद्घाटन भी करते हैं।
पिछले साल मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मसूरी में उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड (यूटीडीबी) द्वारा आयोजित एक हॉट एयर बैलून फेस्टिवल का उद्घाटन किया था।
इससे पहले 2019 में, राज्य सरकार ने 3 नवंबर से 9 नवंबर तक एक सप्ताह तक चलने वाला “स्थापना सप्ताह” मनाया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...