1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के बीच स्नोफॉल, सड़कें और हैलीपैड बर्फ की परत से ढक गए, देखें सुंदर नजारा

उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के बीच स्नोफॉल, सड़कें और हैलीपैड बर्फ की परत से ढक गए, देखें सुंदर नजारा

भगवान भोले की नगरी उत्तराखंड, जहाँ देवो के देव महादेव के साथ-साथ प्रकृति के सौंदर्य के भी दर्शन करने मिलते हैं। और अब इस प्रकृति के सौंदर्य मे चार चाँद लगाने के लिये शिव नगरी मे र्बफबारी शुरु हो गयी है।इस बात की जानकारी सोमवार को देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने दी है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

 

 

 

 

रिपोर्ट: अनुष्का सिंह
देहरादून: भगवान भोले की नगरी उत्तराखंड, जहाँ देवो के देव महादेव के साथ-साथ प्रकृति के सौंदर्य के भी दर्शन करने मिलते हैं। और अब इस प्रकृति के सौंदर्य मे चार चाँद लगाने के लिये शिव नगरी मे र्बफबारी शुरु हो गयी है। आपको बता दें कि इस बात की जानकारी सोमवार को देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने दी है।


बता दें कि राज्य में बर्फबारी के बीच उत्तराखंड में चार धाम यात्रा जारी है, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी शुरू हो गई है। साथ ही उत्तरकाशी जिले के दोनों स्थानों समेत निचले इलाकों में भी ठंड बढ़ गई है।


यहां की सड़कें और हेलीपैड बर्फ की परत से ढक गए हैं और केदारनाथ मंदिर के पास सफाई कार्य जारी है। साथ ही केदारनाथ में हेलीकॉप्टर सेवा प्रभावित हुई है जिसके चलते हेलीपैड से बर्फ साफ की जा रही है।
गौरतलब है कि इसी सब के बीच, बद्रीनाथ तीर्थ का रास्ता सुगम बना हुआ है। बता दें कि ऋषिकेश में पुलिस, चिकित्सा-स्वास्थ्य, परिवहन, पर्यटन, नगर निगम, देवस्थानम बोर्ड और यात्रा प्रशासन संगठन जैसे विभिन्न विभागों के हेल्प डेस्क यात्रियों की मदद कर रहे है। ताकी उन्हें यात्रा के दौरान किसी तरह की कोई बाधा न आ सकें और वे भगवान शिव का दर्शन कर सकें।


आपको बता दे कि पिछले हफ्ते मूसलाधार बारिश के बीच उत्तराखंड सरकार ने चार धाम यात्रा को अस्थायी रूप से स्थगित कर दिया था। जिसके बाद यह यात्रा शुरू होने से पहले चार दिन तक रुकी रही। फिर शुष्क मौसम के चलते यात्रा दुबारा शुरू कर दी गयी।
आपको बता दें कि इस साल चार धाम की यात्रा 18 सितंबर को शुरू हुई थी, जब नैनीताल उच्च न्यायालय ने 16 सितंबर को चार धाम यात्रा पर प्रतिबंध हटा दिया था और वार्षिक तीर्थयात्रा के लिए कोविड -19 रिपोर्ट अनिवार्य कर दिया था। बता दें कि इस यात्रा में हर साल देश-विदेश से लाखों पर्यटक और श्रद्धालु आते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...