1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उतराखंड के नैनीताल में टूटा 23 साल बाद बारिश का रिकॉर्ड टूटा, दर्ज की गई इतनी बारिश

उतराखंड के नैनीताल में टूटा 23 साल बाद बारिश का रिकॉर्ड टूटा, दर्ज की गई इतनी बारिश

पिछले कुछ दिनों से उतराखंड में बारिश के बहुत बुरे हाल हैं, जिस वजह से उतराखंड हाई अलर्ट पर है। इसी दौरान करीब चौदह घंटों से लगातार भारी बारिश ने अक्टुबर में नैनीझील के जलस्तर के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले हैं। बता दें कि सिंचाई विभाग के अनुसार शाम करीब पांच बजे तक नैनीताल में 200 मिमी बारिश दर्ज हो चुकी थी, जिस कारण झील का जलस्तर 12.2 फीट के ऑल टाइम हाई रिकॉर्ड को पार कर गया है, जिससे झील का पानी ओवरफ्लो होकर माल रोड तक पहुंच गया है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट:पायल जोशी
नई दिल्ली : पिछले कुछ दिनों से उतराखंड में बारिश के बहुत बुरे हाल हैं, जिस वजह से उतराखंड हाई अलर्ट पर है। इसी दौरान करीब चौदह घंटों से लगातार भारी बारिश ने अक्टुबर में नैनीझील के जलस्तर के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले हैं। बता दें कि सिंचाई विभाग के अनुसार शाम करीब पांच बजे तक नैनीताल में 200 मिमी बारिश दर्ज हो चुकी थी, जिस कारण झील का जलस्तर 12.2 फीट के ऑल टाइम हाई रिकॉर्ड को पार कर गया है, जिससे झील का पानी ओवरफ्लो होकर माल रोड तक पहुंच गया है।
आपकों बता दे कि इससे पहले अक्तूबर 1998 में सबसे अधिक 106 मिमी बारिश दर्ज की गई थी, तब जलस्तर 11.5 फीट पहुंचने पर झील का पानी ओवरफ्लो हुआ था। बता दे कि सोमवार दोपहर 11 बजे ही नैनीझील का जलस्तर अपने अधिकतर स्तर को पार कर गया था, जिसके बाद झील के गेटों से पानी की निकासी बलियानाल में कर दी गई, जिस के चलते पूरे दिन झील के गेट खुले रहे पर मूसलाधार बारिश के कारण जलस्तर 12 फीट से कम होने का नाम नहीं ले रहा था।
शाम की स्थिती ये हो गई थी कि नैनी झील का पानी माल रोड तक पहुंच गया था, जिसके कारण झील की मछलियां सड़क किनारे तक पहुंचने लगीं। वहां कि अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग कृष्ण चंद चौहान ने बताया कि अक्तूबर महीने में इतनी अधिक बारिश 1998 में हुई थी जिसके बाद अब रिकॉर्ड की जा रही है, जिस वजहे से झील के गेट खोलकर पानी की निकासी कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...