1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. प्रदूषण के कारण दिल्ली छोड़ रहे लोग, यहां लोगों ने डाला अपना डेरा…

प्रदूषण के कारण दिल्ली छोड़ रहे लोग, यहां लोगों ने डाला अपना डेरा…

दिल्ली और NCR में पटाखें बैन होने के बावजूद भी दिवाली के दिन लोगों ने जमकर पटाखों में आग लगाई। जिससे अगले दिन दिल्ली और NCR का दम घूटने लगा। अब खबर ये आ रही है कि बढ़ते वायु प्रदूषण के कारण लोग दिल्ली छोड़कर पहाड का रूख कर रहे है। जी हां, प्रदूषण ज्यादा होने के कारण दिल्ली निवसी उत्तराखंड में छुट्टियां मनाने जा रहे है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: अनुष्का सिंह

देहरादून: दिल्ली और NCR में पटाखें बैन होने के बावजूद भी दिवाली के दिन लोगों ने जमकर पटाखों में आग लगाई। जिससे अगले दिन दिल्ली और NCR का दम घूटने लगा। अब खबर ये आ रही है कि बढ़ते वायु प्रदूषण के कारण लोग दिल्ली छोड़कर पहाड का रूख कर रहे है। जी हां, प्रदूषण ज्यादा होने के कारण दिल्ली निवसी उत्तराखंड में छुट्टियां मनाने जा रहे है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के ‘समीर’ ऐप के मुताबिक, दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स बीते रविवार शाम छह बजे 420 रहा जो की एक चिंता का विषय है। तो वहीं उत्तराखंड के देहरादून और मसूरी का एक्यूआई 90 के आसपास रहा जो कि सामान्य माना जाता है।

बता दे कि मिली जानकारी के अनुसार नैनीताल, मसूरी, अल्मोड़ा और यहां तक ​​कि भीमताल और लैंसडाउन जैसे छोटे स्पॉट्स में होटल संचालन करने वालो का कहना है कि कई टूरिस्टो ने एक सप्ताह या उससे भी ज्यादा के लिए कमरे बुक किए हैं। मसूरी के होटल संचालक ने बताया है कि दिल्ली से बड़ी संख्या में पर्यटक दिवाली से पहले आए थे और उन्होंने यहां दो से चार दिन बिताए। लेकिन अब, कई लोगों ने अपनी बुकिंग बढ़ा दी है और शहर के बाहरी इलाके मे रहने का प्लान कर रहे हैं।

दिल्ली के एक पर्यटक का कहना है कि “हम 3 नवंबर को मसूरी पहुंचे हैं और अब हम सोमवार को निकलेंगे। क्योंकी दिवाली के दौरान दिल्ली में प्रदूषण बहुत बढ़ जाता है, इसलिए हम यहां ताजी हवा में सांस लेने आए हैं, ”

तो वहीं दिल्ली के दूसरे पर्यटक का कहना है कि “दिवाली मनाने के बाद अपने परिवार के साथ देहरादून पहुंचे थे, और अब दिल्ली में हवा मे बढ़ते प्रदूषण मे सुधार होने तक अपने प्रवास को कुछ और दिनों तक बढ़ाने की योजना है।” आगे उन्होने बताया कि “हमने 2019 में देहरादून में एक घर खरीदा था और जब भी हम उत्तराखंड आते हैं, या तो छुट्टियों पर या सर्दियों की शुरुआत में जब दिल्ली में वायु प्रदूषण बढ़ता है, तो यहीं रुकते हैं। हम 2-4 दिन के लिए आए थे, लेकिन अब कुछ और दिन रुकने की योजना बना रहे हैं।

साथ ही आपको बता दे कि पर्यटक नैनीताल जिले के अल्मोड़ा, रानीखेत, मारचुला, बागेश्वर और मुक्तेश्वर जैसे जिले मे लोग पहुंच रहे हैं। जिसके बाद उत्तराखंड के होटल एंड रेस्टोरेंट में ज्यादा जगह नहीं बची है। होटल संचालनों की माने तो आजकल, दिल्ली से अधिक संख्या में लोग त्योहारों के दौरान उत्तराखंड आ रहे हैं। दिवाली के दौरान दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बढ़ने के कारण लोग पहाडों में ताजी हवा लेने के लिए आ रहे है। इस साल भी मसूरी, नैनीताल, ऋषिकेश और रामनगर जैसे स्थानों पर दिल्ली से पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिली है।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...